देश में एक के बाद एक सामने या रहीं रेप की घटनाओं के बाद पूरा देश गुस्से में है, सभी लोग अपने गुस्से का इजहार अलग-अलग तरीकों से कर रहे हैं। हैदराबाद रेप केस के बाद उन्नाव चर्चा में है। उन्नाव में रेप पीड़ित युवती को दिन दहाड़े जला दिया गया था। जिसके बाद उसे दिल्ली के सफ़दरगंज अस्पताल ले जाया गया था, जहां उसने दो दिन के संघर्ष के बाद शनिवार ( 7 दिसंबर 2019 ) की सुबह दम तोड़ दिया।
उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुई इस वहशी घटना के बाद चारों ओर से उत्तरप्रदेश सरकार और पुलिस के रवैये पर सवाल उठ रहे हैं। राजनीतिज्ञ, पत्रकार और समाजसेवक , सभी तरह के लोग अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं कुछ इस तरह से दे रहे हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा

उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार को तत्काल पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसका FIR दर्ज करने से मना किया उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है ?

उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट किया

उन्नाव की बहन की हत्या में भाजपा सरकार की लापरवाही ज़िम्मेदार है. ये प्रदेश की हर नारी के गरिमामय जीवन व सुरक्षा का प्रश्न है। अगर भाजपा के मुख्यमंत्री में नारी के सम्मान के लिए अंश मात्र भी संवेदनशीलता व संवेदना है तो वो त्यागपत्र दें। ये प्रदेश की हर नारी और हमारी भी माँग है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और वायनाड सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा

उन्नाव की मासूम बेटी की दुखद एवं हृदय विदारक मौत, मानवता को शर्मसार करने वाली घटना से आक्रोशित एवं स्तब्ध हूं। एक और बेटी ने न्याय और सुरक्षा के आस में दम तोड़ दिया। दुःख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के प्रति मै आपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।

पत्रकार अजीत अंजुम ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा

उन्नाव की एक बेटी ने दम तोड़ दिया। रेप के बाद जमानत पर छुटे आरोपियों ने जला दिया था। बीजेपी MLA सेंगर की शिकार उन्नाव की ही दूसरी बेटी अभी भी ज़िंदगी की जंग लड़ रही है। ये सब योगी राज में हो रहा है लेकिन इस पर भक्तों का खून नहीं खौलेगा।

कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट किया

उन न्यायाधीश महोदय से कोई प्रश्न करेगा जिन्होंने पीड़िता की आशंका के बाद भी रेप के दबंग आरोपियों को बेल दी? उन पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही होगी जिन्होंने इतने दिनतक उस लड़की की शिकायत को FIR में नहीं बदला? सत्ता-व्यवस्था के प्रति अविश्वास लोकतंत्र में भीषण अमंगलकारी है। #UnnaoTruth

लेखक विनोद कापड़ी ने ट्वीट किया

पुलिस बताए लड़की को सुरक्षा क्यों नहीं दी? जज बताएँ आरोपियों को बेल क्यों दी? DGP बताएँ कि कैसे हुई इतनी बड़ी जानलेवा लापरवाही? योगी बताएँ कि उनकी सरकार है तो है क्यों?सिर्फ मुआवज़ा देने के लिए? हैदराबाद की वकालत करने वालों कम से कम इन सब से इस्तीफ़ा तो माँगो।

एंकर व पत्रकार समीर अब्बास ने ट्वीट किया

उन्नाव की बेटी आख़िरकार ज़िंदगी की जंग हार गई. पहले रेप और फिर केस अदालत तक पहुँचा तो पेट्रोल छिड़ककर उसे आग लगा दी गई. अब कौन देगा उसे इंसाफ़ ? और इन हैवानों को मिली कोई भी सज़ा क्या इस बेटी के साथ सही मायने में इंसाफ़ हो सकती है। उस बेटी के क़ातिल ये भी हैं और हमारा सिस्टम भी।

मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने ट्वीट किया

उन्नाव पीड़िता की दर्दनाक मौत बेहद पीड़ादायक है। राज्य सरकार दोषियों को जल्द से जल्द कड़ी से कड़ी सजा दे जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके। मैं उनके परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ। इस दुःख की घड़ी में पूरा देश पीड़ित परिवार के साथ है।

योगिता भयाना ने ट्वीट किया

भारत सरकार ने उज्जवला योजना लागू किया था ताकि महिलाओं के मुँह में धुआँ ना जाए, अजय सिंह बिष्ट जी आपने तो उनकी आत्मा ही मार दी।आपने उत्तरप्रदेश को रेप प्रदेश बना कर छोड़ दिया है।नैतिकता के आधार पर आप इस्तीफ़ा दे दो नहीं तो हम आपसे इस्तीफ़ा लेकर ही रहेंगे।

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *