मध्यप्रदेश

जबलपुर हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ की यह पहल मील का पत्थर साबित होगी

जबलपुर हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ की यह पहल मील का पत्थर साबित होगी

मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के आदेशों की प्रमाणित कॉपी हासिल करना आवेदकों के लिये बेहद आसान हो गया है, क्योंकि अब उन्हें ये न्यायिक दस्तावेज ऑनलाइन भी मुहैया कराये जायेंगे। उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक देश भर में पहली बार किसी उच्च न्यायालय ने यह हाईटेक व्यवस्था शुरू की है जिससे पक्षकारों, वकीलों और आम लोगों को खासी सुविधा होगी।
मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एके मित्तल ने इस न्यायालय की इंदौर पीठ में बृहस्पतिवार को एक खास सॉफ्टवेयर की औपचारिक शुरुआत की। इस सॉफ्टवेयर के जरिये आवेदकों को उच्च न्यायालय की जबलपुर स्थित मुख्य पीठ के साथ ही इंदौर और ग्वालियर स्थित पीठों के भी आदेशों की प्रमाणित कॉपी ऑनलाइन मिल सकेगी।
इसके लिये आवेदकों को उच्च न्यायालय की आधिकारिक वेबसाइट पर अर्जी देनी होगी।विज्ञप्ति में बताया गया कि उच्च न्यायालय के आदेशों की प्रमाणित कॉपी के लिये आवेदक अब इंटरनेट बैंकिंग और डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से भी तय शुल्क चुका सकेंगे। ऑनलाइन आवेदन करने वाले लोगों के सामने ई-मेल के साथ ही डाक से भी ये न्यायिक दस्तावेज प्राप्त करने का विकल्प रहेगा। उच्च न्यायालय के आदेशों की प्रमाणित कॉपी ऑफलाइन तरीके से प्रदान किये जाने की पुरानी सुविधा भी पहले की तरह जारी रहेगी।
इसे न्याय के क्षेत्र में बड़ी क्रांति.कहा जा सकता हैं । देश के इतिहास में पहली बार म .प्र.उच्च न्यायालय खंडपीठ इंदौर में एक अभिनव पहल, जो भारतीय न्यायपालिका के लिए मील का पत्थर साबित होगी. अब आम जनता बिना अदालत जाये ही इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे अदालती आदेशों एवं दस्तावेजों की प्रमाणित नकले प्राप्त करके अपने बेशकीमती समय और धन का अपव्यय को रोक सकती है।

About Author

Pankaj Chaturvedi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *