आईपीएल 2018  के लिए महेंद्रसिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग में वापसी पक्की हो गई. आईपीएल संचालन परिषद ने बुधवार को अपनी बैठक के बाद कहा कि, ‘आईपीएल फ्रेंचाइजी टीम खिलाड़ियों को (नीलामी पूर्व) रिटेन करने और ‘राइट टू मैच’ (नीलामी के दौरान) दोनों के तहत पांच क्रिकेटरों को सुरक्षित रख सकती है.’

फाइल फोटो

आईपीएल संचालन परिषद ने बैठक के बाद सीएसके और राजस्थान रॉयल्स को अपने 2015 की टीम के खिलाड़ियों को बरकरार रखने की अनुमति दे दी. जो दो साल का निलंबन पूरा करने के बाद 2018 चरण से लीग में वापसी करेगी.
उन्होंने कहा, सीएसके और राजस्थान रॉयल्स के पास खिलाड़ियों को बरकरार रखने और ‘राइट टू मैच’ के लिए उन खिलाड़ियों का पूल उपलब्ध होगा जो 2015 में क्रमश: उनकी टीम के लिए खेले थे और जो 2017 आईपीएल में आरपीएस या गुजरात लायन्स की टीम में शामिल थे.
संचालन परिषद ने आईपीएल टीमों के लिए अगले चरण से वेतन बजट को 66 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 80 करोड़ रुपये कर दिया है, जोकि फरवरी 2018 में होगा. 2019 के लिए उसे बढ़ाकर 82 करोड़ रुपये और 2020 में 85 करोड़ रुपये किया गया है.
‘राइट टू मैच’ का मतलब पुरानी फ्रेंचाइजी सबसे ज्यादा बोली पाने वाले खिलाड़ी को अपने साथ जोड़ सकती है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *