क्रिकेट

नशे में खेली थी हर्शल गिब्स ने 175 रनों की पारी

नशे में खेली थी हर्शल गिब्स ने 175 रनों की पारी

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर हर्शल गिब्स 23 फरवरी को अपना 45वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं. 23 फरवरी 1974 को दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में जन्में हर्शल गिब्स का विवादों से गहरा नाता रहा है. अपनी टीम के लिए अक्सर ओपनिंग करने वाले गिब्स क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट के जबरदस्त बैट्समैन रहे. अपने पूरे कैरियर के दौरान हर्शेल गिब्स ऐसे खिलाड़ी रहे हैं, जो मस्तमौला जिंदगी जीने के लिए जाने जाते थे. गिब्स अपनी जिंदगी का लुत्फ़ बखूबी उठाने के साथ-साथ मैदान में गेंदबाजों की जमकर धुनाई करने के लिए प्रख्यात रहे.

जानें उनके रिकार्ड्स

  • अपने 90 टेस्ट मैचों में हर्शल गिब्स ने 41.95 की औसत से 6,167 रन बनायें. इसमें 14 शतक और 26 अर्धशतक शामिल है.टेस्ट मैचों में उनका उच्चतम स्कोर 228 रन रहा.
  • अपने 245 वनडे मैचों में हर्शल गिब्स ने 36.30 की औसत से 8,060 रन बनायें. इसमें 21 शतक और 37 अर्धशतक शामिल है.वनडे मैचों में उनका उच्चतम स्कोर 175 रन है.
  • वनडे के 1 ओवर में 6 छक्के लगाने का रिकॉर्ड आज भी हर्शल गिब्स के ही नाम है.2007 के वर्ल्डकप मैच में गिब्स ने नीदरलैंड के लेग ब्रेक बॉलर वान डर बुंगा की लगातार 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाये थे.
  • गिब्स लगातार 3 वनडे मैचों में शतक लगाने वाले कुछ चुनिंदा क्रिकेटर में भी शामिल हैं.
  • 2006 में ऐतिहासिक मैच में साउथ अफ्रीका ने ऑस्‍ट्रेलिया के दिए 434 रन के लक्ष्‍य को पूरा किया था. इस मैच में साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज हर्शल गिब्स की 175 रनों की तूफानी पारी खेली थी.

वनडे इतिहास में सबसे बड़े लक्ष्य का पीछे करने का रिकॉर्ड साउथ अफ्रीका की टीम के नाम दर्ज है. इस जीत के पीछे मुख्य भूमिका हर्शेल गिब्स ने निभाई थी.पिछले साल अपनी ऑटोबायोग्राफी में इस जीत से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया था.
बारह साल पहले 2006 में ऐतिहासिक मैच में साउथ अफ्रीका ने ऑस्‍ट्रेलिया के दिए 434 रन के टारगेट को सफलतापूर्वक हासिल किया था.इस मैच में साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज हर्शल गिब्स ने 175 रनों की धमाकेदार पारी खेली थी. गिब्स ने एक बड़ा खुलासा कर सबको चौंका दिया है.गिब्स ने बताया है कि उस मैच के दौरान वह नशे में थे और नशे की हालत में ही उन्होंने वह पारी खेली थी.
स्टार क्रिकेट ने ऑटोबायोग्राफी में खुलासा किया, ‘उस दिन मैं रात करीब 1 बजे तक एक फ्रेंड के साथ ड्रिंक कर रहा था. अगले दिन जब मैं बैटिंग के लिए आया तो जबरदस्त हैंगओवर था. ‘उनकी किताब का नाम ‘टू द पॉइंट : द नो होल्ड्स बार्रेड ऑटोबायोग्राफी’ है.
साल 2000 में गिब्स का नाम मैच फिक्सिंग में भी आया था. जिसके बाद उन्हें 6 महीने के लिए सस्पेंड कर दिया गया था साथ ही उन पर जुर्माना भी लगाया गया था

बेहद रोचक था मुकाबला

गौरतलब है कि 2006 में खेले गए उस मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 434 का पहाड़ सा लक्ष्य खड़ा किया था, वहीं उसके जवाब में गिब्स ने 111 गेंदों में 175 रनों की धुआंधार पारी खेली थी, उनकी पारी के दम पर ही दक्षिण अफ्रीका ने इस लक्ष्य को पाया था.
इस जीत में गिब्‍स के साथ ही ग्रीम स्मिथ और मार्क बाउचर का भी महत्वपूर्ण योगदान दिया था.गिब्‍स ने इस पारी में 21 चौके और सात छक्‍के लगाए थे.इस मुकाबले में 860 से भी ज्‍यादा रन बने जो एक रिकॉर्ड है. इसके साथ ही वो क्रिकेट इतिहास में 400+ रन का टारगेट चेज करते हुए जीतने वाली पहली टीम बन गई थी. ये आज तक रिकॉर्ड है.
बता दें कि इस मैच से पहले किसी भी टीम ने वनडे की एक पारी में 400 रन नहीं बनाए थे. लेकिन इस मैच के बाद से कई टीमें 400 से ज्‍यादा का स्‍कोर कई बार बना चुकी हैं.

About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *