गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव नतीजे आने के बाद कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने मोदी सरकार हमला बोला और  सवाल पूछा. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को लोकपाल की नियुक्ति में देरी के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा.

राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार से पूछा कि वह ‘झूठी ताल’ कब तक बजाएगी. लोकपाल विधेयक 2013 में संसद द्वारा पारित किया गया था, लेकिन प्रक्रियाओं से जुड़ी कमियों के कारण पिछले चार साल से लोकपाल की नियुक्ति नहीं हो सकी है.

राहुल गांधी  ने लोकपाल को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 18 दिसंबर 2013 को किए ट्वीट के स्क्रीनशॉट को भी पोस्ट किया है. इसमें पीएम मोदी ने ट्वीट किया था, ”मुझे बहुत गर्व है कि लोकपाल बिल पास कराने में सुषमा स्वराज और अरुण जेटली के नेतृत्व में बीजेपी सासंदों ने सकारात्मक और सक्रिय भूमिका निभाई है.”

कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी और बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा, ”बीत गए चार साल, नहीं आया लोकपाल. जनता पूछे एक सवाल, कब तक बजाओगे ‘झूठी ताल’?” उन्होंने पीम मोदी और बीजेपी नेताओं पर कटाक्ष करते हुए सवाल दागा कि क्या ये लोकतंत्र के रक्षक और जवाबदेही सुनने के अग्रदूत हैं.

लोकपाल पर अभी क्या है स्थिति?

  •  2013 में अन्ना हजारे के आंदोलन के बाद लोकपाल बिल लोकसभा और राज्यसभा दोनों में पास हो गया था.
  • 2016 में लोकपाल एक्ट में एक अमेंड्मेंट (संशोधन) के लिए लोकसभा में सहमति बनी थी, जिसके बाद बिल को रिव्यू के लिए स्टैंडिंग कमेटी कमेटी के पास भेजा गया था.