सोशल मीडिया

यात्री के साथ बदसुलूकी पर सोशल मीडिया में हुई इंडिगो की निंदा

यात्री के साथ बदसुलूकी पर सोशल मीडिया में हुई इंडिगो की निंदा

सोशल मीडिया में आजकल एक विडियो भौकाल मचाये हुए है. इस विडियो में दिल्ली के आईजीआई एअरपोर्ट पर इंडिगो फ्लाइट के सुरक्षा में तैनात कर्मचारी चेन्नई से दिल्ली आए एक यात्री के साथ मारपीट करते हुए नजर आ रहे है. राजीव कटियाल नाम के शख्स के साथ हुआ पूरा वाक्या इंडिगो के ही कर्मचारी ने ही कैमरें में कैद किया. विडियो बनाने वाले कर्मचारी का नाम मोंटू कालरा है. विडियो 15 अक्टूबर का बताया जा रहा है. टाइम्स नव को दिए साक्षात्कार में मोंटू कालरा ने बताया कि ये विडियो उन्होंने बनाया था तथा बाद में अपने मैनेजेर को भेज दिया था, तथा विडियो की जांच के बाद उन्हें ही नौकरी से बर्खास्त कर दिया था.
इंडिगो ने तुरंत ही बयान जारी कर माफ़ी मांग ली थी. और इंडिगो के सीईओ आदित्य घोष ने विमानन मंत्रालय को सौंपी अपनी विस्तृत रिपोर्ट में बताया कि ‘ह्विसल्ब्लोअर कहा जाने वाला मोंटू कालरा नामक यह पूर्व कर्मचारी विडियो में अपने दो सहयोगियों को आदेश देते हुए सुनाई दे रहा है. ये दोनों सहयोगी उससे जूनियर थे और यात्री राजीव कात्याल को बस में चढ़ने से रोक रहे थे. कालरा ने घटना को भड़काया और बाद में कात्याल को भड़काकर मोबाइल से विडियो शूट किया’


रिपोर्ट में घोष ने एयरलाइंस की गलती स्वीकार की. रिपोर्ट में उन्होंने कहा कि एयरलाइंस ने न केवल इसके लिए यात्री से माफी मांगी बल्कि दोषियों को निलंबित भी कर दिया.  उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ आगे की जांच भी चल रही है.
इससे पहले की पिछले दिनों इंडिगो फ्लाइट के ही कर्मचारियों ने बैडमिंटन स्टार पीवी सिन्धु के साथ कथित रूप से बदतमीजी की थी. और सिन्धु ने इनके खिलाफ ट्वीटर पर जमकर भड़ास निकली थी. पीवी सिंधु ने ट्वीट के जरिए फ्लाइट में अपने बुरे अनुभव के बारे बताया, उन्होंने बताया कि इंडिगो एयरलाइन्स के ग्राउंड स्टाफ ने उनके साथ बुरा बर्ताव किया. बैडमिंटन स्टार ने यह भी बताया कि फ्लाइट में एयर होस्टेस ने उस कर्मचारी को समझाने की कोशिश की, लेकिन उस कर्मचारी ने मेरे साथ-साथ उस एयर होस्टेस के साथ भी काफी बुरा व्यवहार किया. सिंधु ने कहा कि इस घटना से वह काफी दुखी हैं. इस घटना के बाद सिंधु ने इंडिगो को इस बारे में डायरेक्ट मैसेज भी किया है. सिंधु के इस ट्वीट पर बहुत से यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रियाएं भी दीं. कुछ यूजर्स ने ग्राउंड स्टाफ के ऐसे व्यवहार के लिए फटकार लगाई, तो कुछ ने सिंधु को नसीहत दी कि उन्हें उस कर्मचारी का नाम नहीं लेना चाहिए था.


सबसे सुरक्षित और सुविधाजनक कही जाने वाली एयरलाइन्स में इस तरह की घटनाएँ निश्चित ही चौंकाने वाली है. और हिंसा तो कहीं और किसी भी ढंग से एक सभ्य समाज में स्वीकार्य नहीं हो सकती.जब एयरलाइन्स के कर्मचारियों के साथ बदतमीजी करने पर सांसद को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया था तो अब एयरलाइन्स के माफ़ी भर से ही पूरे मसले की भरपाई हो जाएगी?

न्यूज़ एजेंसी ANI ने घटना का वीडियो ट्विट किया है

बेशर्मीभरा बर्ताव

इस पूरे मामले पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. पूर्व में  लोहानी एयर इंडिया के सीएमडी भी रहे हैं.  लाेहानी ने कहा- इंडिगो स्टाफ का बर्ताव बेशर्मीभरा और अमानवीय है, व्हिसलब्लोर पर कार्रवाई करने का एयरलाइन का कदम तो और भी गंभीर है. वहीं शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा- एयरलाइंस के लिए भी नो फ्लाई बैन होना चाहिए. ऐसे स्टाफ को हत्या की कोशिश के आरोप में अरेस्ट करना चाहिए. ज्ञात होकि शिवसेना के ही सांसद रविंद्र गायकवाड़ भी प्लेन के अंदर एयरलाइन स्टाफ से बुरे बर्ताव के आरोपी रहे हैं.

Avatar
About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *