October 20, 2021
बॉलीवुड

इरफान को श्रद्धांजलि क्यों है “सरदार उधम” फ़िल्म

इरफान को श्रद्धांजलि क्यों है “सरदार उधम” फ़िल्म

बॉलीवुड को पिछले साल तब बहुत झटका लगा जब अभिनेता इरफान का अचानक निधन हो गया। वो विभिन्न तरह के कैंसर से पीड़ित थे। उनकी मृत्यु की खबर के बाद चारो तरफ हाहाकार मच गया इरफान खान के चाहने वालों से लेकर बॉलीवुड जगत तक मे उनके चाहने वालों ने अपना दुख ज़ाहिर किया।

अब जब उनके निधन को क़रीबन एक साल से ज़्यादा हो गया और उनके बेटे बाबिल खान भी अपने बॉलीवुड डेब्यू की तैयारियां कर रहे हैं अब इरफान खान को लेकर नई खबर आ रही है। अमेज़न प्राइम पर आने वाली फिल्म “सरदार उधम” को उसके लीड हीरो विक्की कौशल ने इरफान को समर्पित किया है। ऐसा क्यों है जानिए।

ये था राज़…

दरअसल सरदार उधम फ़िल्म में पहले इरफान खान को लिए जाने की तैयारी थी। इस फ़िल्म के डायरेक्टर शूजीत सरकार इरफान खान को लेकर ये फ़िल्म करना चाहते थे लेकिन ये मुमकिन हो न सका और इरफान खान इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह कर चले गए। इसके बाद ही विक्की कौशल को लेकर ये फ़िल्म तैयार की गई है और अब ये फ़िल्म सबके सामने आने को तैयार है।

इस फ़िल्म के प्रोमोशन के लिए विक्की कौशल जब “कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में पहुंचे तो उन्होनें अर्चना के एक सवाल पर जवाब दिया कि मैम वास्तव में, मैं इरफान सर का बहुत बड़ा फैन हूं। मुझे लगता है कि वो दुनिया के बेहतरीन अभिनेताओं में से एक हैं। उनके जैसा यूनिक काम कोई नहीं कर सकता है।” फिल्म ‘सरदार उधम’ के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “इस फिल्म का हर शॉट, हर टेक इरफान सर को श्रद्धांजलि है।”

इस तरह की मार्मिक बयान देने पर विक्की की हर तरफ तारीफ भी की जा रही हैं। उन्हें और उनकी शालीनता को सराहा जा रहा है। उनकी ये फ़िल्म अमेज़ॉन प्राइम पर 16 अक्टूबर से देखी जा सकती है। जिसमें उन्होंने स्वतंत्रता सेनानी सरदार उधम सिंह का किरदार निभाया है। उनके लुक्स की भी काफी तारीफ की जा रही है।

कौन थे इरफान खान

इरफान खान बॉलीवुड इंडस्ट्री का एक जाना माना चेहरा थे उन्हें उनके अलग और खास किरदारों के लिए जाना जाता था। जिसमें “मक़बूल” का मक़बूल और पान सिंह तोमर का डकैत और हासिल मे यूनिवर्सिटी के छात्र की तरह रॉल को काफी सराहा जाता रहा है।

बीते साल उनका निधन कोरोना लॉक डाउन के समय हो गया था तब अचानक हुए इस निधन के बाद तमाम बॉलीवुड में शोक की लहर दौड़ गयी थी। आज क़रीबन डेढ़ साल बाद भी उन्हें याद करने वाले और चाहने वाले उन्हें याद करते हैं।

About Author

Asad Shaikh