अलविदा इरफान

अलविदा इरफान

शायद यह जीवन में पहली बार है कि किसी फ़िल्मी सितारे के जाने पर मेरी आँखें नम हुई है। इरफ़ान खान बिल्कुल अपने जैसे लगते थे। उनकी बातें, उनकी सूरत, उनकी शक़्ल… सब हम आम लोगों जैसी ही थी। इसलिए अपने लगते थे। हिंदी मीडियम उनकी मुझे सबसे बेहतरीन फ़िल्म लगी। वह शायद भारतीय सिनेमा […]

Read More