December 4, 2021
हरियाणा

शादी का कार्ड इनविटेशन नहीं, चेतावनी दे रहा है

शादी का कार्ड इनविटेशन नहीं, चेतावनी दे रहा है

देश में तीनों विवादित कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा हो चुकी है, लेकिन हरियाणा, पंजाब और यूपी के किसान अब भी बॉर्डर पर है। उनकी मांग है कि तीनों विवादित कृषि कानूनों को रद्द करने के साथ साथ किसानों को MSP की गारंटी दी जाए। जिसके लिए MSP पर एक ठोस कानून बनाया जाए।

बीते एक साल में किसानों और सरकार में काफ़ी खींचातानी चली हैं, जो अब शादियों तक में दिख रही है। बता दें कि शादियों का सीजन शुरू हो चुका है और शादी की शॉपिंग और कार्ड छपवाने का काम भी। लेकिन हरियाणा के झज्जर में एक शादी का कार्ड चेतावनी के पोस्टर के रुप में भी काम कर रहा है। दरअसल हुआ ये है की, राजस्थान के एक किसान नेता ने अपनी बेटी के शादी कार्ड पर साफ़ तौर पर लिखवाया है कि, BJP, JJP और RRS वालें इस शादी से दूर रहें।

तस्वीर : पोलिटोक्स 

राजेश धनखड़, हरियाणा के झज्जर के रहने वाले एक किसान नेता है और विश्व वीर जाट महासभा के अध्यक्ष भी हैं। उनकी बेटी टिशा की शादी 1 दिसम्बर को होनी है, जिसके शादी के कार्ड पर राजनीतिक दलों को शादी से दूर रहने की चेतावनी दी गयी है।

इस कार्ड को मंगलवार (24 नवम्बर) को सबसे पहले छोटू राम जयंती पर रेवाड़ी के बावल स्थित अंबेडकर पार्क में प्रदर्शित किया गया था। इसे प्रदर्शित करने वाले किसान नेता युद्धवीर सिंह थे। कार्ड के प्रदर्शन के दौरान सभी किसानों से BJP, JJP और RSS के विरोध में एकजुट रहने को कहा गया था।

पोलिटोक्स मीडिया वेबसाइट के मुताबिक इस कार्ड के माध्य्म से किसान नेताओ ने BJP, JJP और RSS जैसे संगठनों के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की है। वहीं इन दलों के विरोध में लोगो से एकजुट होने के लिए कहा गया है। जानकारी के मुताबिक, अब ये कार्ड सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

About Author

Sushma Tomar