December 4, 2021
महाराष्ट्र

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर फिर साधा निशाना

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर फिर साधा निशाना

महाराष्ट्र में NCP नेता नवाब मलिक और NCB अधिकारी समीर वानखेड़े के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। बीते डेढ़ महीने से नवाब मलिक, समीर वानखेड़े पर लगातार हमलावर हैं। इसी कड़ी में एक और ट्वीट करते हुए नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को फिर घेरा है।

उनके ट्वीट के मुताबिक समीर वानखेड़े की मां की मृत्यु के दौरान उनके दो डेथ सर्टिफिकेट बनवाए गए थे। जिसमे से एक में उन्हें मुस्लिम और एक में हिन्दू बताया गया है। दूसरी और समीर वानखेड़े का अपना डिपार्टमेंट समीर पर लगे आरोपों की जांच कर रहा है वहीं, मुंबई हाइकोर्ट से भी समीर को बड़ा झटका मिला है।


नवाब मलिक का समीर वानखेड़े पर नया आरोप :

हाल फिलहाल में दुबई से लौटने के बाद नवाब मलिक ने एक ट्वीट किया है। ट्वीट में लिखा है, “एक और फर्जीवाड़ा, अंतिम संस्कार के लिए मुसलमान और सरकारी दस्तावेजो के लिए हिन्दू ? धन्य है दाऊद ज्ञानदेव..


ट्वीट के साथ उन्होंने दो फ़ोटो भी शेयर की। दोनों फ़ोटो डेथ सर्टिफिकेट है और दोनों सर्टिफिकेट एक ही महिला के हैं। सर्टिफिकेट पर नाम जाविदा ज्ञानदेव लिखा है जो समीर वानखेड़े की माँ है। वहीं डेथ की तारीख 16 अप्रैल 2015 लिखी है। बता दें कि समीर वानखेड़े की माँ का अंतिम संस्कार मुंबई के ओशिवारा शमशान घाट पर किया गया था।

नवाब मलिक पहले भी लगा चुके हैं आरोप :

नवाब मलिक, समीर वानखेड़े पर आर्यन ड्रग्स केस के बाद से ही हमलावर हैं। समीर वानखेड़े पर उनका आरोप है कि समीर हकीकत में मुस्लिम धर्म से ताल्लुक रखते हैं लेकिन सरकारी नोकरी के लिए समीर ने खुद को दलित समाज का बताया और उससे जुड़े फ़र्ज़ी दस्तावेज़ भी बनवाए।


यही नहीं नवाब मलिक का समीर पर ये भी आरोप है कि समीर एक्सटॉर्शन रैकेट चलाते है जिसके लिए उनके पास खुद की एक टीम है। वो सेलेब्रिटीज़ या बड़े घर के बच्चों को निशाना बनाते हैं ताकि ड्रग्स केस में उन्हें फंसा सके। कोरोना काल में भी समीर सेलेब्रिटीज़ से करोड़ो की उगाही कर चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, समीर वानखेड़े ने ड्रग्स केस में नवाब मलिक के दामाद को भी गिरफ्तार किया था।


एक और जांच दूसरी और हाई कोर्ट से झटका :

NBT के मुताबिक, नवाब मलिक के समीर वानखेड़े पर लगाए गए आरोपो की जांच उनका खुद का डिपार्टमेंट कर रहा है। इस बीच समीर वानखेड़े के और से हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। जिसमे “नवाब मलिक एनसीबी और समीर वानखेड़े के खिलाफ न बोलें” बात कही गयी थी।

कोर्ट ने इस याचिका की सुनवाई में कहा, की नवाब मलिक के समीर वानखेड़े पर लगाए आरोपो में कुछ गलत नज़र नहीं आता। ऐसे में नवाब मलिक पर न बोलने का प्रतिबंध लगाना ठीक नहीं होगा।

नवाब मलिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, मुख्यमंत्री उनके काम से खुश हैं। पूरा मंत्रिमंडल और शरद पवार उनके साथ हैं। ये लड़ाई अन्याय के खिलाफ है और इसे लड़ने के लिए मैं सक्षम हूँ। अन्याय के खिलाफ इस लड़ाई को हम अंतिम छोर तक लेकर जाएंगे।

About Author

Sushma Tomar