कश्मीरियों के साथ कई बार मारपीट के मामले देश अलग-अलग हिस्सों से सामने आते रहते हैं। मारपीट की घटनाओं से जुड़े ये मामले अधिकतर उत्तरभारत में होते रहे हैं। ऐसा ही एक ताज़ा मामला हरियाणा से सामने आया है। जहाँ एक कश्मीरी ट्रक ड्राइवर को पाकिस्तानी और आतंकी बताकर हरियाणा पुलिस के द्वारा बुरी तरह से मारा और पीटा गया है, इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से हड़कंप मच गया है। जिसके बाद फरीदाबाद पुलिस एक्शन में आई और आरोपी पुलिस वालों के विरुद्ध कार्यवाही की है।

अंग्रेजी अखबार Times Of India के अनुसार हरियाणा के  कुंडली-गाजियाबाद-पलवल (KGP) एक्सप्रेसवे पर यह घटना घटित हुई, जहाँ कश्मीरी ड्राइवर मोहम्मद मक़बूल 27 नवम्बर को प. बंगाल से सेब की पेटियों की डिलीवरी देकर पाइप्स का लोड लेकर वापस कश्मीर जा रहे थे, (KGP) एक्सप्रेसवे पर मौजपुर टोल के पास रोककर अपने साथ आये दूसरे ड्राइवर को ट्रक ड्राइव करने के लिए ट्रक रोका।

ड्राइवर मोहम्मद मक़बूल के अनुसार- गाड़ी रोकने के बाद वहां पर फरीदाबाद पुलिस की एक टीम आकर रुकी और उनसे गाडी के कागज़ात आदि दिखाने के लिए कहा, ASI धर्मवीर ने गाड़ी के कागज़ात देखने के बाद उस ट्रक पर 30,000/- रुपये का चालान काट दिया, जो जुर्माना उनसे मांगा गया, जुर्माने की उस राशि को उनके द्वारा भर दिया गया। जब उन्हें चालान की रसीद सिर्फ 18,000/- रुपये की ही दी गई, तो इस पर उन्होंने आपत्ति दर्ज कराते हुए पुलिस से बचे 12000/- रूपये वापस मांगे। इस बात पर फरीदबाद पुलिस के वह कर्मी आग बबूला हो गए और उन्होंने हमें गाली देना शुरू कर दिया।

मोहम्मद मक़बूल के वायरल वीडियो में वो बताता है कि पुलिस कर्मीयों ने उन्हें धमकाते हुए कहा कि यहां से चले जाओ, वर्ना हवालात में बंद कर देंगे। पर वो पुलिस की धमकियों से डरे नहीं, बल्कि पुलिस से अपने रुपये वापस लेने पर अड़ गए। इस पर पुलिसकर्मी उन्हें घसीटते हुए नज़दीकी पुलिस चौकी में ले गए और वहां पर कपड़े उतारकर कर ज़मीन पर पटक कर बेल्ट से पीटना शुरू कर दिया। मोहम्मद मकबूल का कहना है कि पिटाई के दौरान उन्हें पाकिस्तानी और आतंकी कहा जाता रहा।

वहां से रिहा होने के बाद मोहम्मद मक़बूल गाजियाबाद पहुंचे और पुलिस की बर्बरता और पिटाई का विडियो भी अपने गाड़ी मालिक को भेज कर पूरी घटना की सूचना दी। इस बीच यह विडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया। जिसके बाद हड़कंप मच गया।

पुलिस के आला अधिकारियों ने एक पुलिस की एक टीम को कश्मीरी चालक को ढूंढने पर लगा दिया, रात को ही टीम ने ड्राइवर से संपर्क किया। मकबूल ने पुलिस को बताया कि वह गाजियाबाद में हैं। जिसके बाद टीम के SHO रात को ही गाजियाबाद पहुंचे और मक़बूल को अपने साथ ले आए। रात करीब 2 बजे ACP सिटी बल्लभगढ़ भी ड्राइवर से मिलने थाना छांयसा पहुंचे। मक़बूल ने ACP सिटी को अपने साथ घटित हुई घटना की  पूरी आपबीती बताई। मक़बूल पिटाई करने वालों में से एक की वर्दी पर लगी नेम प्लेट से ASI धर्मवीर की पहचान कर सका जबकि बाक़ी का वो नाम नहीं देख पाए।

ACP सिटी बल्लभगढ़ की मौजूदगी में फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस के ASI धर्मवीर पर आपराधिक धाराओं व भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। कल पीड़ित का मेडिकल चेकअप कराया गया। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि ASI धर्मवीर पर केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे इतवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

साथ ही मारपीट करने वाली उस पुलिस टीम में शामिल हवलदार चरण सिंह, हवलदार सत्यवान, सिपाही रामनिवास और नरेंद्र को सस्पेंड कर दिया गया है। होमगार्ड सीताराम, संदीप व वासुदेव के खिलाफ कार्रवाई के लिए उनके कमांडेंट को पत्र लिखा गया है।