उत्तरप्रदेश

प्रधानमंत्री के अलीगढ़ पहुचंने से पहले यह बड़ा बवाल हो गया 

प्रधानमंत्री के अलीगढ़ पहुचंने से पहले यह बड़ा बवाल हो गया 

प्रधानमंत्री आने कभी पार्टी के तो कभी किसी और काम से देश भर में घूमते रहते हैं। इसी तरह प्रधानमंत्री मोदी 14 सितंबर को अलीगढ़ आने वाले हैं। लेकिन प्रधानमंत्री के पहुंचने से पहले ही अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में बवाल हो गया है। यह बवाल मोदी के आने से नहीं तो नहीं है, पर मोदी के आने से इस विवाद ने ज़ोर पकड़ लिया है। 

दरअसल, अलीगढ़ के भाजपा कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को यूनिवर्सिटी से हटवाने की मांग कर रहे हैं। इसी मांग को लेकर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बीते दिनों डीएस कॉलेज  के सामने प्रदर्शन किया था। इसके बाद यह विवाद सुलझने की जगह दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है। यही नहीं, कुछ लोगों ने तो ए.एम.यू की नींव रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले जिन्ना की तस्वीर पब्लिक टॉयलेट में लगा दी है। इस हरकत के बाद मामला और ज्यादा गर्मा गया है। 

युवा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध

यह पूरा विरोध प्रदर्शन भाजपा के युवा मोर्चा मंडल के लोगों ने किया था। इस प्रदर्शन का नेतृत्व शिवांग तिवारी का कार्यकर्ता व मंडल प्रवक्ता ने किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी हुई, साथ ही जिन्ना की तस्वीरें भी फाड़ दी गईं। उनका कहना था कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में लगी जिन्ना की तस्वीर को हटाया जाए।

इसके बाद प्रदर्शन करने वाला इस गुट ने गांधी पार्क बस अड्‌डे पर जाकर पब्लिक टॉयलेट में जिन्ना की तस्वीर लगा दी और इसकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर डाल दीं। बस कुछ ही देर में यह तस्वीरें और मामला वायरल हो गया। हालांकि प्रशासन को जैसे ही इस बात खबर हुई, उसने टॉयलेट से यह तस्वीरें हटा ली। 

खून से लिखा था पत्र

भाजपा नेता शिवांग तिवारी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने 9 सितंबर को जिन्ना की तस्वीर का विरोध करते हुए प्रधानमंत्री को खून से पत्र लिखकर मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर ए.एम.यू से हटवाने की मांग की थी। 9 सिंतबर को प्रशासन ने इस बात का आशवासन दिया था कि वह इन युवाओं की मांगों को सरकार तक पहुंचाएगी और इस संदर्भ में केंद्र सरकार को ज्ञापन दिया जाएगा। लेकिन इसके बाद भी बाद भाजपा ने रविवार को दोबारा विरोध जताया।

पुलिस प्रशासन ने किया नज़रबंद 

प्रदर्शन के दौरान यह घटना होने के बाद पुलिस कर्मचारियों ने भाजपा के सभी युवा कार्यकर्ताओं से संपर्क कर उन्हें घर में नजरबंद कर दिया है। साथ ही उन्हें हिदायत दी गई है कि जब तक प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम अलीगढ़ में पूरा नहीं हो जाता, वह अपने घऱों से बाहर न निकलें।

लेकिन पूरे मामले पर किसी पुलिस अधिकारी न कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है। संबधित घटनाक्षेत्र के एसएसआई (SSI) एसपी सिंह से इस संबध में बात करने की कोशिश की गई, पर उन्होंने कहा कि उन्हें इस घटना के संदर्भ में कोई जानकारी नहीं है। आगे उन्होंने  कहा, अगर ऐसी कोई घटना हुई है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

About Author

Heena Sen