मोदी कैबिनेट विस्तार, देखें पूरी जानकारी : किसने पाया और किसने खोया

मोदी कैबिनेट विस्तार, देखें पूरी जानकारी : किसने पाया और किसने खोया

2019 में केंद्र में बीजेपी की जीत और मोदी के पुनः प्रधानमंत्री बनने के बाद से उनके मौजूदा कैबिनेट में कोई भी बड़ा फेरबदल नहीं किया गया था। कुछ मंत्रियों को रिसफ्ल करके उनके मंत्रालय बदले गए थे। मगर अब क्योंकि देश को एक नए और युवा मंत्रिमंडल की जरूरत थी इसलिए 7 जुलाई को […]

Read More
 भाजपा का अगला प्रधानमंत्री उम्मीदवार कौन: योगी बनाम मोदी

भाजपा का अगला प्रधानमंत्री उम्मीदवार कौन: योगी बनाम मोदी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कौन नहीं जानता, राजनीति में चर्चित रहने वाले नेताओं में से एक बड़ा नाम है योगी आदित्य नाथ, यूपी के मुख्यमंत्री आज अपने आप में एक ब्रैंड हैं, देश के दक्षिण पंथी और हिंदुत्ववादी सोच वाले युवाओं के आदर्श बनकर उभरने वाले योगी आदित्यनाथ का जीवन विवाद से […]

Read More
 इतिहास में दुष्प्रचार और झूठ का तड़का

इतिहास में दुष्प्रचार और झूठ का तड़का

इतिहास के साथ दुष्प्रचार और गलतबयानी एक आम बात रही है। सत्तारूढ़ शासक अक्सर अपने विकृत और विद्रूप अतीत को छुपाना चाहते है और अपने बेहतर चेहरे को जनता के सामने लाना चाहते है। इतिहास में वे बेहतर शासक और व्यक्ति के रूप मे याद किये जांय, यह उन सबकी दिली इच्छा होती है। संघ […]

Read More
 मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि विधेयकों का विरोध क्यों कर रहे हैं किसान ?

मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि विधेयकों का विरोध क्यों कर रहे हैं किसान ?

देश कोई भी हो, उसके भविष्य निर्माण में सबसे बड़ी भूमिका उसके किसान, मजदूर, छात्र और नौजवान ही निभाते हैं, खासकर किसान। चांद और मंगल पर पहुंच जाने के बावजूद दुनिया जिनके द्वारा उत्पादित अन्न का कोई विकल्प नहीं तलाश पाई है। लोगों के पेट की आग अभी भी अन्न से ही बुझती है और […]

Read More
 पहले से आधार और आयुष्मान कार्ड हैं, तो फिर ये नई हेल्थ आईडी का क्या औचित्य है?

पहले से आधार और आयुष्मान कार्ड हैं, तो फिर ये नई हेल्थ आईडी का क्या औचित्य है?

डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की डिटेल आनी शुरू हो गयी है दरअसल यह पूरा मिशन WHO की डिजिटल हैल्थ गाइड लाइन के अनुरूप ही किया जा रहा है जिसकी अंतिम परिणीति होगी है मानव शरीर मे माइक्रोचिप को इंस्टाल करना,स्वीडन में बड़े स्तर पर इसे लागू करने के प्रयास हुए हैं , यूरोप में भी इस […]

Read More
 क्या सरकार के पास नीति, नियत और प्रतिभा का अभाव हो चला है ?

क्या सरकार के पास नीति, नियत और प्रतिभा का अभाव हो चला है ?

दुनियाभर में सीएए और दिल्ली हिंसा के मामलों में, बाहरी देशों की संसद से लेकर वहां के नगर निगमों तक में बहसें हो रही हैं, हमारी सरकार की नीयत पर सवाल उठाए जा रहे हैं,  हमारे संविधान के प्राविधान हमें ही याद दिलाये जा रहे हैं, कुछ देश हमे सामाजिक सद्भाव रखने की सलाह दे […]

Read More
 प्रधानमंत्री जी, सोशल मीडिया छोड़िए या न छोड़िये, पर मिथ्यावाचकों से मुक्त हो जाईये

प्रधानमंत्री जी, सोशल मीडिया छोड़िए या न छोड़िये, पर मिथ्यावाचकों से मुक्त हो जाईये

खबर है पीएम ने सोशल मीडिया, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम छोड़ने का निर्णय किया है । कल 2 मार्च को ही उनके यह कह देने के बाद से अलग अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कुछ उन्हें मना रहे हैं कि वे न छोड़े और कुछ मज़ाक़ उड़ा रहे हैं। दुनियाभर के सभी राष्ट्राध्यक्ष ट्विटर पर हैं। […]

Read More
 2020 के बजट से मोदी सरकार ने फिर साबित कर दिया है, कि उसे अर्थव्यवस्था की कुछ समझ नही

2020 के बजट से मोदी सरकार ने फिर साबित कर दिया है, कि उसे अर्थव्यवस्था की कुछ समझ नही

कम शब्दों में 2020 के इस यूनियन बजट को डिस्क्राइब करना हो, तो यह कहना सही होगा। कि यह बजट ‘बिल्ली का गू’ है….. न लीपने का ओर न पोतने का.. इस बजट से सबको उम्मीदे बहुत थी। भारत गहरी आर्थिक मंदी की चपेट में है। यह बात अब बड़े बड़े विशेषज्ञ भी कुबूल कर […]

Read More
 NPR पर गृह मंत्रालय के सूत्रों से जो जानकारी आई है, वो BJP नेताओं के बयान से उलट है

NPR पर गृह मंत्रालय के सूत्रों से जो जानकारी आई है, वो BJP नेताओं के बयान से उलट है

ये है आपका असली चाल, चेहरा ओर चरित्र, कुछ दिनों पहले जब पहली बार नेशनल पॉपुलेशन रजिस्ट्रर NPR की बात सामने आई थी तब प्रकाश जावड़ेकर ने सेल्फ सर्टिफिकेशन या सेल्फ डेक्लरेशन की बात कही थी। अमित शाह तो इसे ‘एच्छिक’ बता रहे थे, उन्होंने कहा था कि अगर एनपीआर में कुछ जानकारियां नहीं भी […]

Read More
 ईरान अमरीका विवाद और भारत

ईरान अमरीका विवाद और भारत

कुछ मित्र इसे भी एक उपलब्धि मान रहे हैं कि अमेरिका ईरान के विवाद में हमे किसी महत्वपूर्ण भूमिका के लिये पूछा जा रहा है। विशेषकर वे मित्र जो 2014 के बाद ही संबोधि को प्राप्त हुए हैं, उन्हें यह बात अधिक लगती है कि यह एक महान उपलब्धि है। जबकि हम दुनिया के विकासशील […]

Read More