राजनीति

जानिए कितनी सशक्त महिला है ममता बनर्जी?

जानिए कितनी सशक्त महिला है ममता बनर्जी?

जब कभी बंगाल (West Bengal) की राजनीति की बात होती है तो केवल एक ही नाम लोगों के सामने आता है, ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) । 2011 में बंगाल की मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद से आज तक वह लगातार मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठती आई है। मई में घोषित हुए 2021 बंगाल विधानसभा चुनाव के रिजल्ट (result) में ममता अपने ही होम सीट (Home seat) नंदीग्राम (Nandigram) से हार गई थी। इसके बाद से उनके लिए उप चुनाव करवाना और उसमें जीतना जरूरी हो गया है।

कुछ दिन पहले ही ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने भवानीपुर (Bhawanipur) विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल करवाया है। 30 सितंबर को होने वाले बंगाल विधानसभा उपचुनाव (West Bengal By Elections) का नजारा कुछ अलग ही होने वाला है। ममता ने एक एफिडेविट (Affidavit) भी फाइल किया है जिसके अनुसार उनके पास केवल 69,225 रुपए कैश मौजूद है। ऐसे में उनका चुनाव लड़ना और उसे जितना देखने लायक होगा।

ममता की कुल संपत्ति 15 लाख से भी कम 

जहां एक तरफ कई विधायक स्तर के नेता करोड़ों की संपत्ति का खुलेआम इस्तेमाल करते नजर आते हैं, वहीं दूसरी ओर बंगाल की मुख्यमंत्री के पास कुल संपत्ति 15 लाख से भी कम की है। यह आंकड़ा उन्होंने मई में चुनाव परिणाम आने के बाद दिया था। इसके अलावा उनके पास अपनी कोई संपत्ति नहीं है।

उनकी एक एफिडेविट (Affidavit) के मुताबिक उनका कुल बैंक बैलेंस (Bank Balance) 13,53,356 रुपए है। इसके साथ उनके पास उस वक्त 69,255 कैश थे जो अब कम हुए होंगे, 18,490 रुपए बतौर नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (National Saving Certificate) है और 9 ग्राम ज्वेलरी (Jewellery) है जो लगभग 45,837 रुपए के बराबर हैं।

उप चुनाव की मजबूत दावेदार है ममता

30 सितंबर को भवानीपुर (Bhawanipur) में होने वाले उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस (TMC) की ओर से ममता बनर्जी  एक मजबूत दावेदार है। उन्होंने बंगाल के विकास के लिए अपना जीवन गुजार दिया। बंगाल के लोगों के नजर में ममता बनर्जी के लिए काफी इज्जत और भरोसा हैं, जिसे तोड़ पाना काफी मुश्किल है।

भाजपा की ओर से प्रियंका टिबरेवाल (Priyanka Tibrewal) भवानीपुर से दावेदार है। प्रियंका पार्टी में 2014 में शामिल हुई थी। वह भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) की उपाध्यक्ष है और पेशे से एक वकील है। सांसद बाबुल सुप्रियो की लीगल एडवाइजर (Legal Advisor) के तौर पर भी प्रियंका ने काम किया है। मगर इन सबके बाद भी ममता बनर्जी के सामने प्रियंका राजनीति में अभी एक फ्रेशर (Fresher) है।

बंगाल में काफी सशक्त है ममता

पश्चिम बंगाल की राजनीति में ममता बनर्जी काफी सशक्त व्यक्तित्व वाली महिला है। उन्होंने बंगाल में 34 साल पुराने कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया (Communist Party of India) के शासन काल का अंत करते हुए अपनी सरकार बनाई थी। वह बंगाल की पहली महिला मुख्यमंत्री है।

2021 विधानसभा चुनाव के प्रचार प्रसार के दौरान अपना पैर तुड़वाने के बाद भी वह डटी रही। उनका मनोबल काफी बुलंद था। नंदीग्राम में सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) को उन्होंने काफी कड़ी टक्कर दी थी।

About Author

Ankit Swetav