मिस्र के उत्तर सिनाई में एक मस्जिद पर हुए विनाशकारी बम और बंदूक हमले में कम से कम 238 लोग मारे गए तथा बड़ी तादाद में लोग घायल हुए हैं. हालिया कुछ समय में यह हमला देश की सबसे घातक घटनाओं में से एक था. मिस्र सरकार द्वारा चलाये जाने वाले अहराम ऑनलाइन के मुताबिक़ – अरीश शहर के पश्चिम में अल अल-अब्द में अल-रावाह मस्जिद को निशाना बनाकर किये गए इस हमले में 238 लोग मारे जा चुके हैं, और कम से कम 130 लोग घायल हुए हैं.
मिस्र के एम्बुलेंस अथॉरिटी के मुताबिक, आतंकवादियों द्वारा हमला किया गया था जो कई चार पहिया वाहनों में मस्जिद पहुंचे थे. मस्जिद के अंदर दो बम विस्फोट किए गए थे, और जब इबादत कर रहे लोग भागने लगे, तो उन्हें आतंकवादियों ने बंदूक से मार गिराया.

मिस्र के सरकारी टीवी चैनल के अनुसार – राष्ट्रपति के कार्यालय ने आतंकवादी हमले के बाद तीन दिवसीय राष्ट्रव्यापी शोक की घोषणा की है. एक आधिकारिक बयान में, मिस्र के जनरल अभियोजक नबील सदेक ने आदेश निकालते हुए बयान दिया है, कि इस मामले कि जांच करने के लिए इस्माइलिया और हाई सिक्योरिटी प्रिसिक्यूटर्स को तैनात किया जाएगा.

मिस्र के कॉप्टिक ओर्थोडोक्स चर्च नें हमले की निंदा की है

कॉप्टिक ऑर्थोडॉक्स चर्च ने उत्तरी सिनाई की मस्जिद में नमाज़ पढ़ रहे लोगों पर बंदूकधारियों के द्वारा हुए इस घातक हमले की निंदा की है. चर्च के प्रवक्ता ने कहा- कि चर्च ने “इस हमले की निंदा की है जो अल-अब्द अल-रावाह मस्जिद में इबादत कर रहे लोगों को निशाना बनाकर किया गया है.

“हम परमात्मा से प्रार्थना करते हैं, कि मिस्र ऐसी आतंकवादी घटनाओं से सुरक्षित रहे”, इस बयान में यह भी लिखा था- कि चर्च किसी भी तरह की आतंकवाद से लड़ाई में सरकार के साथ है,

अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने की घोर निंदा –

सरकारी सेवा अहराम ऑनलाइन के मुताबिक़ अन्तराष्ट्रीय समुदाय ने इस भयावह हमले की कड़ी निंदा कि है. ब्रिटेन के विदेश सचिव बोरिस जॉनसन ने ट्विटर पर लिखा, “उत्तर सिनाई, # मिस्र में एक मस्जिद पर घृणित हमले से गहरा दुख होता है. इस तरह के एक बर्बर कृत्य से प्रभावित सभी लोगों के लिए गहराई से संवेदना.”
एक आधिकारिक बयान में, ब्रिटेन के मिस्र में राजदूत जॉन कैसन ने भी पश्चिमी अरीश में अल-रावाह मस्जिद पर हमले की निंदा की, उन्होंने ट्विटर पर लिखा –  “मुझे इस शैतानी हमले से नफ़रत हो रही है, जिसमें ढेर से मिस्र के नागरिकों को मार दिया गया और कई घायल हैं. ब्रिटेन की ओर से मैं सभी पीड़ितों के लिए संवेदना व्यक्त करता हूँ. मस्जिदों और चर्चों में प्रार्थना करने वाले लोगों पर ये हमले केवल हमारे मिलजुलकर साथ रहने और आतंकवाद व नफरत को हराने के हमारे दृढ़ संकल्प को मजबूत करते हैं “.
काहिरा में फ्रांसीसी राजदूत, स्टीफन रोमेट ने भी इस हमले की कड़ी निंदा की, उन्होंने इसक ज़िक्र करते हुए कहा यह “बर्बर और अपमानजनक” है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा- “मिस्र शोक में है और फ्रांस इसके बगल में स्थित है”.
तुर्की के विदेश मंत्री ने ट्वीट किया कि – “मैं मिस्र के सिनाई क्षेत्र में आतंकवादी हमलों की निंदा की है,जिससे कई निर्दोष नागरिकों की जान गई है. मैं मिस्री भाईयों के लिए और उन लोगों के परिवारों के लिए अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं जो लोग इस हमले में मारे गए हैं.
बहरीन ने ” कड़े शब्दों में” हमले की निंदा की, बहरीन विदेश मंत्रालय ने आतंकवाद और उग्रवाद के खिलाफ मिस्र के साथ अपने सहयोगी रुख पर जोर दिया है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *