जम्मू कश्मीर में युवक को जीप के आगे बांधने वाले मेजर गोगोई से पुलिस ने पूछताछ की है. उन्हें पुलिस ने श्रीनगर के एक होटल से एक नाबालिग लड़की के साथ देखे जाने पर हिरासत में लिया था.
मेजर गोगोई को श्रीनगर के होटल ग्रैंड ममता में एक लड़की के साथ देखा गया था. होटल में चेक इन करते वक्त कुछ  लोकल लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी. बताया जा रहा था कि बडगाम की रहने वाली लड़की के साथ वो होटल में वक्त बिताने पहुंचे थे.
मेजर गोगोई श्रीनगर के एक होटल रूम में लड़की के साथ जाना चाहते थे, लेकिन स्टाफ ने मेजर को इसकी इजाज़त नहीं दी. इसपर गोगोई का होटल स्टाफ के साथ झगड़ा हो गया और पुलिस ने उन्हें कुछ देर के लिए हिरासत में ले लिया.
होटल के मालिक मंसूर अहमद ने बताया कि आर्मी मेजर ने ऑनलाइन होटल की बुकिंग करवाई थी और श्रीनगर एयरपोर्ट से होटल पहुंचे. अहमद ने बताया ‘गोगोई ने रजिस्ट्रेशन फॉर्म पर दो लोगों के नाम लिखे थे.
होटल मैनेजमेंट ने बताया कि उनसे दो आधार कार्ड देने के लिए कहा गया. उनके साथ एक लोकल कश्मीरी लड़की भी थी. जिसे नाबालिग बताया जा रहा था. हालांकि पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि लड़की नाबालिग थी या नहीं.
आईजीपी कश्मीर एसपी पाणी ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं और एसपी नॉर्थ सिटी सज्जाद अहमद शाह को जांच अधिकारी बनाया है.
शाह ने एक्सप्रेस को बताया कि लीतुल गोगोई के नाम से होटल ग्रांड ममता में एक कमरा बुक किया गया था, जब दोनों होटल आए तो स्टाफ़ ने उन्हें अंदर नहीं आने दिया क्योंकि होटल का कहना है कि वह स्थानीय लड़की को होटल में आने की अनुमति नहीं दे सकते हैं.
उन्होंने आगे बताया, “होटल के रिसेप्शन पर इसको लेकर विवाद हो गया और होटल स्टाफ़ ने पुलिस बुला ली. होटल गई पुलिस उन्हें (गोगोई, महिला और अन्य व्यक्ति) को यहां ले आई. जांच के दौरान हमने कुछ नहीं पाया. लड़की बालिग है और 18 से 19 के आयु के बीच की है. पूरे सत्यापन के बाद हमने उसे जाने दिया.”
इस घटना के बाद गोगोई को उनकी यूनिट के हवाले कर दिया गया.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *