देश

चुनाव आयोग से पहले भाजपा आईटी सेल ने कैसे कर दी कर्नाटक चुनाव की घोषणा?

चुनाव आयोग से पहले भाजपा आईटी सेल ने कैसे कर दी कर्नाटक चुनाव की घोषणा?

चुनाव आयोग से पहले ही तारीखें सार्वजनिक होने से एक बार फिर चुनाव आयोग की विश्वस्नीयता पर सवाल उठ रहे हैं.
मालूम होकि बीजेपी के आईटी सेल इंचार्ज अमित मालवीय ने पहले ही इसकी घोषणा कर दी थी. जब चुनाव आयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, तो उनके द्वारा तारीख बताने से पहले ही अमित मालवीय ने चुनाव तारीख के बारे में जानकारी दे दी थी.
कांग्रेस प्रवक्ता ने रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस मामले पर बीजेपी पर निशाना साधा है। सुरजेवाला ने सोशल मीडिया पर अहम सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपा ने चुनाव आयोग से पहले ही कर्नाटक के चुनावों की तारीखों का ऐलान किया। चुनाव आयोग की विश्वसनीयता को ये सीधी चुनौती है।
 
उन्होंने कहा – क्या संवैधानिक संस्थाओं का डेटा भी भाजपा चुरा रही है? क्या चुनाव आयोग श्री अमित शाह को नोटिस देगा और भाजपा के IT सेल पर FIR दर्ज करवाएगा?
जब चुनाव आयोग से मामले पर सवाल किया गया तो, आयोग ने इस मामले पर संज्ञान लेने की बात कही. जिसके बाद बीेजेपी नेताओं का एक डेलीगेशन अमित मालवीय के बचाव में चुनाव आयोग के दफ्तर पहुुंचा है.
इस डेलीगेशन में शामिल केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने चुनाव आयोग को बताया कि अमित मालवीय ने एक टीवी चैनल पर खबर देखने के बाद ही ट्वीट किया.
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी किया. चुनाव आयोग से बीजेपी प्रतिनिधिमंडल की मीटिंग के बाद नकवी ने बयान दिया कि मालवीय का ट्वीट एक टीवी चैनल के सूत्रों के हवाले से था. उनकी ओर से चुनाव आयोग की महत्ता को कम करने की कोशिश नहीं की गई.
हालांकि नकवी ने स्वीकार किया कि मालवीय को ऐसा नहीं करना चाहिए था.
दरअसल, आज सुबह 11 बजे दिल्ली में चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू हुई. जब चुनाव आयुक्त ओपी रावत कर्नाटक चुनावों के बारे में जानकारी दे रहे थे. उन्होंने तारीखों की घोषणा नहीं की थी, उसके पहले ही 11 बजकर 8 मिनट पर अमित मालवीय ने ट्वीट कर दिया.
मालवीय ने अपने ट्वीट में लिखा कि कर्नाटक में 12 मई 2018 को वोटिंग होगी और 18 मई 2018 को काउंटिंग होगी.
अमित के ट्वीट करने के बाद तुरंत ही उस पर सवाल उठने लगे. सोशल मीडिया पर ही लोग रिएक्ट करने लगे और अमित मालवीय से सवाल पूछने लगे कि आयोग से पहले उन्होंने कैसे ये जानकारी बता दी. जिसके बाद अमित मालवीय ने कुछ मिनटों में ही अपना ट्वीट डिलीट कर डाला.
जैसे ही अमित मालवीय ने ट्वीट किया, उसी दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस में रिपोर्टर ने चुनाव आयुक्त से सवाल पूछ लिया कि अभी तक आपने घोषणा नहीं की है, लेकिन बीजेपी के आईटी सेल के इंचार्ज ने चुनाव की तारीख बता दी है. इस पर चनाव आयुक्त ने कहा कि यह गंभीर मामला है और हम इसकी जांच करेंगे. चुनाव आयुक्त ने कहा है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी.
चुनाव आयोग ने बताया कि 12 मई को वोट डाले जायेंगे और 15 मई को मतगणना होगी.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *