देश

दबाव बनाकर GDP के आंकड़े बदलवाती है सरकार,फर्जी हैं सब : सुब्रमण्‍यम स्‍वामी

दबाव बनाकर GDP के आंकड़े बदलवाती है सरकार,फर्जी हैं सब : सुब्रमण्‍यम स्‍वामी

भाजपा के एक ओर नेता और राज्‍यसभा सदस्‍य सुब्रमण्‍यन स्‍वामी ने 2G के फैसले के बाद  फिर बोला मोदी सरकार पर हमला .
 
भाजपा नेता और राज्‍यसभा सदस्‍य सुब्रमण्‍यन स्‍वामी अपनी पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोलने से नहीं चूक रहे. उन्‍होंने एक बार फिर मोदी सरकार पर जुबानी हमला बोला है. जनसता में छपी खबर के अनुसार ये रिपोर्ट.
स्‍वामी ने केंद्र सरकार पर बहुत बड़ा आरोप लगाया. राज्‍यसभा सदस्‍य ने कहा की सरकार केंद्रीय सांख्यिकी संगठन (सीएसओ) के अधिकारियों पर बेहतर आर्थिक आंकड़े देने के लिए दबाव बनाया था, जिससे यह दिखाया जा सके कि नोटबंदी का अर्थव्‍यवस्‍था और जीडीपी पर प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ा है.
उन्‍होंने जीडीपी के  इन आंकड़ों को फर्जी करार दिया है. स्‍वामी के इस आरोप से मोदी सरकार की मुश्किलें बढती दिखाई दे रही हैं.
सुब्रमण्‍यन स्‍वामी शनिवार को अहमदाबाद में चार्टर्ड अकाउंटेंट के एक सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर सीएसओ के अधिकारियों पर अच्‍छे आंकड़े दिखाने के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया.
स्वामी ने कहा की, ‘कृपा करके जीडीपी के तिमाही आंकड़ों पर न जाए. वे सब फर्जी हैं. यह बात मैं आपको कह रहा हूं, क्‍योंकि मेरे पिता ने सीएसओ की स्‍थापना की थी. हाल ही में मैं केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा (सांख्यिकी मंत्री) के साथ वहां पर  गया था.
उन्‍होंने सीएसओ अधिकारियों को आदेश दिया, क्‍योंकि नोटबंदी पर आंकड़े देने का दबाव था. इसी कारण वह जीडीपी के ऐसे आंकड़े जारी कर रहे हैं, जिससे यह पता चल सके कि नोटबंदी का कोई असर नहीं हुआ.
उन्होंने कहा कि, मैं घबराहट महसूस कर रहा हूं, क्‍योंकि मुझे पता है कि इसका प्रभाव हुआ है. मैंने सीएसओ के निदेशक से पूछा था कि आपने उस तिमाही में जीडीपी के आंकड़ों का अनुमान किस तरह से लगाया था जब नोटबंदी का फैसला (नवंबर 2016) लिया गया था?’
सीएसओ निदेशक ने बताया कि वह क्‍या कर सकते हैं? क्योंकि  वह दबाव में थे. उनसे आंकड़े मांगे गए और उन्‍होंने दे दिए. स्‍वामी ने बताया कि ऐसे में तिमाही आंकड़ों पर भरोसा मत करें.
 

About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *