मेघालय के गवर्नर तथागत राय ने एक वीडियो ट्वीट किया, बांग्ला में लिखे इस ट्वीट में उन्होंने दावा किया – एक पाकिस्तानी हिन्दू लड़की को उसकी माँ और बच्ची के सामने से उठाया जा रहा है। और कुछ मूर्ख हिन्दू NRC का विरोध करना गर्व की बात समझते हैं। 150 मिलियन मुस्लिमों के लिए 55 देश हैं, 250 मिलियन इसाईयों के लिए 69 ईसाई देश हैं, और 150 करोड़ हिंदुओं के लिए कोई देश नहीं है।

सिर्फ तथागत राय नहीं, बल्कि बड़ी संख्या में कुछ लोग इस वीडियो को अलग-अलग रूप से पेश करके हिन्दू-मुस्लिम भावना भड़काने की कोशिश करते नज़र या रहे हैं। ऐसा ही एक और ट्वीट मिला जिसमें इस वीडियो को राजस्थानी हिंदुओं पर वहाँ के मुस्लिमों का अत्याचार बताकर पोस्ट किया जा रहा है।

योगी देवनाथ नामक ट्वीटर अकाउंट से एक और भड़काऊ कैप्शन के साथ हमें ट्वीट मिला, जिसमें लिखा था – ये विडियो राजस्थान का हैं हिन्दू औरतो को सारे आम मुस्लिम उठाकर ले जा रहे है और फिर उनपे रेप होता।

क्या है इस वीडियो की वास्तविकता ?

दरअसल यह वीडियो सितंबर 2017 का है, यह घटना राजस्थान के जोधपुर ज़िले में घटित हुई थी, जहां पर एक नाबालिग़ लड़की के पिता ने शौकत नामक व्यक्ति से उसकी शादी करवा दी थी। लड़की की माँ ने अपनी अपनी बेटी को जब तक उसके साथ भेजने से मना कर दिया था, जब तक वह कानूनी रूप से बालिग ( 18 वर्ष ) की नहीं हो जाती।

इसके बाद शौकत अपने मित्रों के साथ लड़की के घर जाता है और जब लड़की की माँ उसे ले जाने से मना करती है, तब उनमें से एक आदमी उसकी माँ के साथ मारपीट करते हैं और उस बच्ची को माँ से अलग करते हैं। और अपने साथ ले जाते हैं।

Screenshot of the article. 

इस वीडियो की जांच करते हुए द क्विन्ट वेबसाईट ने कुछ कुछ लिंक्स और स्क्रीनशॉट पोस्ट किए हैं, उन्ही स्क्रीनशॉट में से एक स्क्रीनशॉट न्यूज़ DNA वेबसाईट का है, जिसमें इस पूरी घटना का जिक्र है। 

जब यह घटना घटित हुई थी, उस समय इस संबंध में मीडिया में जो रिपोर्ट्स आई थीं, उनके वीडियो यूट्यूब पर मौजूद हैं। जो इस घटना के समय, स्थान और घटना किन लोगों से संबंधित है, यह समझने में मदद करते हैं। एक स्टोरी ब्रिटेन के द सन पर भी प्रकाशित हुई थी, उस स्टोरी को देखने के लिए यहाँ पर क्लिक करें।

देखें घटना से संबंधित तात्कालिक यूट्यूब वीडियोज़

इस वीडियो से संबंधित तथागत राय व अन्य लोगों के दावे हमारी पड़ताल में झूठे पाए गए हैं

हमने हमारी पड़ताल पर यह पाया कि यह वीडियो जिसे मेघालय के गवर्नर तथागत रॉय ने जिस दावे के साथ ट्वीट किया है, उनका यह दावा गलत है। यह वीडियो पाकिस्तान का नहीं है, बल्कि राजस्थान का है। साथ ही हमारी पड़ताल में यह भी बात सामने आई, कि जो लोग इसे राजस्थानी हिंदुओं पर मुस्लिमों के अत्याचार के दावे के साथ प्रसारित कर रहे हैं, उनका भी दावा गलत है। बल्कि इस वीडियो में प्रताड़ना करने वाले और प्रताड़ित, दोनों ही राजस्थानी मुस्लिम हैं। साथ ही यह वीडियो जोधपुर के कालू खान की धानी नामक गाँव का है। इस तरह इस वीडियो के संबंध में सोशल मीडिया पर जो दावे किए जा रहे हैं, उन्हे हमने झूठा पाया है।