किंगस्टन (जमैका): अजिंक्य रहाणे के अर्धशतक और रिद्धिमान साहा के साथ उनकी उम्दा साझेदारी से भारत ने एक बार फिर धीमी बल्लेबाजी के बावजूद वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन लंच तक छह विकेट पर 425 रन बना लिए. इससे टीम इंडिया ने 229 रन की बढ़त के साथ मैच में अपनी स्थिति बेहद मजबूत कर ली.

रहाणे 74 रन बनाकर खेल रहे हैं, जबकि साहा 47 रन बनाने के बाद पहले सत्र की अंतिम गेंद पर पगबाधा आउट हुए. दोनों ने छठे विकेट के लिए 98 रन जोड़े। रहाणे 176 गेंद की अपनी पारी में अब तक 11 चौके और एक छक्का जड़ चुके हैं. कप्तान जेसन होल्डर की अगुवाई में वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने सुबह के सत्र में सधी गेंदबाजी की, जिससे भारतीय बल्लेबाज सुबह 26.4 ओवर में 67 रन ही जोड़ सके. होल्डर ने सुबह के स्पैल में 8.4 ओवर में 17 रन देकर एक विकेट हासिल किया.

भारत ने हालांकि इसके बावजूद 229 रन की बढ़त के साथ अपनी स्थिति बेहद मजबूत कर ली है. वेस्टइंडीज ने पहली पारी में 196 रन बनाए थे. भारत ने दिन की शुरुआत पांच विकेट पर 358 रन से की. रहाणे 42, जबकि साहा 17 रन से आगे खेलने उतरे. वेस्टइंडीज के लिए नए दिन की गेंदबाजी की शुरुआत एक बार फिर तेज गेंदबाज शेनन गैब्रियल ने की. साहा पहले ही ओवर की अंतिम गेंद पर भाग्यशाली रहे, जब उनके बल्ले का किनारा लेकर गई गेंद दूसरी स्लिप में खड़े क्षेत्ररक्षक तक नहीं पहुंची.

रहाणे ने पदार्पण कर रहे मिगुएल कमिंस पर दिन का पहला चौका जड़ा और फिर इस तेज गेंदबाज के अगले ओवर में एक और चौके के साथ 93 गेंद में अर्धशतक पूरा किया. साहा ने भी कमिंस की गेंद को थर्ड मैन पर खेलकर दिन का अपना पहला चौका मारा. भारतीय बल्लेबाजों ने रविवार की तुलना में कुछ बेहतर बल्लेबाजी की और पहले घंटे में 13 ओवर में 34 रन जुटाए. साहा ने लेग स्पिनर देवेंद्र बिशू पर चौके के साथ 141वें ओवर में भारत का स्कोर 400 रन के पार पहुंचाया.

होल्डर की अगुवाई में हालांकि गेंदबाजों ने भारतीय बल्लेबाजों को खुलकर रन नहीं बनाने दिए. होल्डर ने विशेष रूप से रहाणे को काफी परेशान किया. रहाणे की बल्लेबाजी में इसका असर भी दिखा. उन्होंने बिशू की गेंद पर खराब शॉट खेला, लेकिन प्वाइंट पर राजेंद्र चंद्रिका कैच लपकने में नाकाम रहे. रहाणे ने हालांकि होल्डर के अगले ओवर में दो चौकों के साथ जोरदार वापसी की. उन्होंने पहले प्वाइंट के ऊपर से चौका जड़ा और फिर स्ट्रेट ड्राइव से चार रन बटोरे. साहा ने भी बिशू पर मिड ऑफ के ऊपर से चौका मारा.

साहा हालांकि लंच के पहले के अंतिम ओवर में होल्डर की नीची रहती गेंद पर पगबाधा आउट हो गए, जो वेस्टइंडीज के कप्तान का सीरीज में पहला विकेट है। साहा ने 116 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके मारे.