राजनीति

अंसारी बंधुओं का गढ़ बनेगा आज़मगढ़

अंसारी बंधुओं का गढ़ बनेगा आज़मगढ़

उत्तरप्रदेश के मऊ से विधायक मुख़्तार अंसारी के बेटे और बहुजन समाज पार्टी के युवा तेज़तर्रार नेता अब्बास अंसारी पिछले 10 दिनों से सपा संस्थापक मुलायम सिंह के लोकसभा क्षेत्र आज़मगढ़ में लगातार भ्रमण कर रहे हैं. उनका यह भ्रमणकार्य बहुत ही तेज़ी से चालू है, इन दस दिनों में अब्बास ने करीब 50 गांव का दौरा किया है. साथ ही सघन जन सम्पर्क भी उनके द्वारा किया जा रहा है.
अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी एवं राजनीतिज्ञ अब्बास अंसारी के इस सघन जनसंपर्क के कई मायने निकाले जा रहे है. अब्बास के इस दौरे से बसपा कार्यकर्ताओं के अंदर ये आशा जाग रही है, कि क्या अब्बास आगामी लोकसभा चुनाव में आज़मगढ़ से बसपा के लोकसभा उम्मीदवार होंगे. अगर ऐसा होता है, तो निश्चिन्त ही ये ख़बर समाजवादी खेमें के लिए बैचेन करने वाली खबर है. ख़ास तौर से ये ख़बर मुलायम सिंह यादव को परेशान करने वाली ख़बर है.
गौरतलब है, कि अब्बास की सभाओं में युवाओं का एक बड़ा तबका देखने को मिल रहा है है, युवाओं का अब्बास की तरफ झुकाव ही समाजवादी पार्टी के लिए ख़तरे की घंटी है. अब्बास अभी भी आज़मगढ़ में ही डेरा डाले हुए हैं.
अब्बास कहते हैं कि आज़मगढ़ से उनके पिता मुख़्तार अंसारी को बहुत गहरा लगाव है, और हमेशा यहाँ के लोगों ने उनके पिता जी को बहुत प्रेम व समर्थन दिया है, जिसे वो कभी भूल नहीं सकते. अब्बास आगे कहते हैं कि आज़मगढ़ के लोग जब भी जहाँ भी मुझे याद करेंगे मैं तत्काल उनकी सेवा में मौजूद रहूँगा.

ग्रामीणों से बातचीत करते अब्बास

अब्बास अंसारी के आज़मगढ़ दौरे से जहाँ एक तरफ बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं में उत्साह देखने को मिल रहा है. वहीँ दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी में बेचैनी साफ़ दिख रही है, क्योंकि अंसारी परिवार का पूर्वांचल में अच्छा खासा प्रभाव पाया जाता है.
बताते चलें की आज़मगढ़ लोकसभा के सांसद समाजवादी पार्टी के संस्थापक खुद मुलायम सिंह यादव है और इसी वजह से अब्बास अंसारी के आज़मगढ़ में डेरा डालने पर राजनितिक गलियारों में चर्चा ज़ोरों पर है. ज्ञात हो कि अब्बास अंसारी एक अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज़ भी हैं जिससे उन्होंने भारत के लिए कई अवार्ड भी जीते हैं, तथा खुद अब्बास भी कई खेल पुरुष्कारों से सम्मानित किये जा चुके हैं.
अंसारी परिवार का भारत की आज़ादी के आन्दोलन में दिया गया योगदान और पूर्व राष्ट्रपति व  विख्यात शिक्षाविद डॉक्टर हामिद अंसारी जैसे सम्मानित व्यक्तियों का इनके परिवार से होना भी अब्बास अंसारी की एक पहचान है. अब देखना ये है, कि क्या अब्बास अंसारी आज़मगढ़ से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. अगर लड़ते हैं, तो विपक्षी पार्टियों के लिए कितनी मुसीबत खड़ी करेंगे.

About Author

Asif Rn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *