0

देखें आज़ादी की सुबह 15 अगस्त 1947 को क्या थी अख़बारों की हैडलाईन्स

Share

15 अगस्त 1947 देश अंग्रजों की हुकूमत से आज़ाद हुआ था, तब से लेकर आज तक 70 साल का एक लम्बा समय बीत चुका है. देश ने 70 साल में नई ऊचाईयों को छुआ, ब्रिटिश हुकूमत से आज़ादी के समय इस मुल्क में सूई का निर्माण नहीं होता था, पर इन 70 सालों में प्रगति की वो रफ़्तार रही की भारत ने परमाणु हथियार बना लिए. भारत और पाकिस्तान एक ही साथ आज़ाद हुए थे, पर पाकिस्तान कट्टरपंथ का शिकार होकर विकास की राहों से कोसों दूर हो गया. आज़ादी की सुबह 15 अगस्त 1947 में देश ही नहीं दुनिया भर के अखबारों में भारत के स्वतंत्र होने की ख़बरें थीं. आईये देखते हैं, कि उस समय के अख़बारों ने कैसे भारत की आज़ादी को दर्शाया था.

द स्टेट्समैन :- 15 अगस्त 1947

द स्टेट्समैन :- 15 अगस्त 1947


हिंदुस्तान टाईम्स का मुख्य पृष्ठ


हिन्दुस्तान टाईम्स ने 15 अगस्त 1947 को हेडलाइन दी थी, जिसका हिंदी अनुवाद -” भारत स्वतंत्र , ब्रिटिश सत्ता समाप्त”

न्यूयार्क टाईम्स


अमरीकी अखबार न्यूयार्क टाईम्स ने भी अपने मुख्य पृष्ठ में इस खबर को प्रमुखता से छापा था.

हिंदुस्तान


हिंदी अखबार हिन्दुस्तान ने हैडलाईन दी थी – ” सदियों की दासता के बाद भारत में स्वतंत्रता का मंगल प्रभात”

इसी अखबार में नीचे एक हैडलाईन थी – “बापू की चिर तपस्या सफल”

आन्ध्रा पत्रिका (तमिल)


दक्षिण भारतीय पेपर आन्ध्रा पत्रिका ने भी पूरे मुख्यपृष्ठ को आज़ादी के रंग से रंग दिया था