राजनीति

ट्रिपल तलाक़ बिल पर कांग्रेस से क्यों नाराज़ हैं मुस्लिम ?

ट्रिपल तलाक़ बिल पर कांग्रेस से क्यों नाराज़ हैं मुस्लिम ?

लोकसभा में पेश हुए ट्रिपल तलाक़ बिल पर टीवी से लेकर सोशलमीडिया में लंबी बहस छिड़ी हुई है, चूंकि मामला मुस्लिम समुदाय से सम्बंधित है, इसलिए एक-एक गतिविधि पर मुस्लिम संगठन नज़र बनाए हुए हैं. बताया जाता है, कि संसद में कांग्रेस के द्वारा इस मुद्दे पर विरोध दर्ज न कराने और बिल के पक्ष में वोट देने के कारण मुस्लिम समुदाय का एक बड़ा तबक़ा कांग्रेस से नाराज़ है.
इसका तात्कालिक इफेक्ट अहमदाबाद में नज़र आया, जहाँ पर मुस्लिम समुदाय की क़द्दावर एवं सम्मानीय शख्सियतों ने कांग्रेस से नाराज़गी ज़ाहिर की. इसी बीच “मुस्लिम समुदाय की तरफ से एक खत कांग्रेस नेता अहमद पटेल के नाम” से एक मैसेज सोशल मीडिया में वायरल हो गया था.
मुस्लिम समुदाय की ये नाराज़गी राष्ट्रीय स्तर पर महसूस की जा रही है, जोकि न सिर्फ कांग्रेस बल्कि सभी सेकूलर पार्टियों से नाराज़गी का इज़हार कर रहे हैं. इस मामले में बिहार के किशनगंज से कांग्रेस सांसद मौलाना असरारुल हक़ ने अपनी पार्टी से नाराज़गी ज़ाहिर की.
वहीँ गुजरात में मुस्लिम समुदाय से सम्बंधित मामलों में सक्रीय रहने वाली, “गुजरात मुस्लिम हितरक्षक समिति” अपने मज़बूत डेलीगेशन के साथ गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष भरत सोलंकी से मुलाक़ात करने वाले हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार यह मुलाक़ात आज 2-1-2018 शाम 4 बजे कांग्रेसभवन, पालड़ी में होगी. वहीं मुस्लिम समुदाय के कुछ युवाओं के द्वारा गुजरात कांग्रेस कार्यालय का घेराव कर, प्रदर्शन करने की खबर भी है.

गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष ” भरत सिंह सोलंकी”

ऐसा बताया जाता है, कि इस मुलाक़ात में गुजरात के मुस्लिम समुदाय द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष को ये साफ़-साफ़ बताया जाएगा, कि यह बिला अगर राज्यसभा से पास होता है. तो कांग्रेस यह जान ले कि जिस तरह उसे वोट देकर मुस्लिम समुदाय जीत में अहम् भूमिका निभा सकता है. उसी तरह हराने की भी छमता है. ज्ञात होकी लोकसभा में हुई वोटिंग में कांग्रेस ने भाजपा द्वारा लाये इस बिल के समर्थन में वोटिंग की थी,
सूत्रों अनुसार इस डेलीगेशन में मुफ़्ती अब्दुलक़य्युम भी शामिल हैं. जिन्हें अक्षरधाम मंदिर पर हमले के झुटे आरोप पर जेल में 12 साल बिताने पड़े थे। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें बाइज्ज़त बरी किया था.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *