पहले टीम इंडिया को हसने का मौका मिला और फिर दक्षिण अफ्रीकी टेस्ट क्रिकेट इसी का नाम है.  अब एक बार फिर से टीम इंडिया मुस्कुरा रही है. यह मुस्कुराहट विराट  एंड कंपनी को दी दक्षिण अफ्रीकी धरती पर अपनी पहली ही पारी में भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर आठवें विकेट के लिए 99 रन की साझेदारी करने वाले उभरते सितारे और युवा ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने.  एक बार तो टीम इंडिया मुकाबले से लगभग बहार ही हो गयी थी. लेकिन इस बेस्किमती  साझेदारी और हार्दिक पंड्या के 93 रन ने भारत को केपटाउन टेस्ट में फिर से मुकाबले में ला खड़ा किया है. हार्दिक पंड्या ने संकट की घड़ी में एक यादगार पारी खेली, लेकिन वह एक भारतीय बल्लेबाज परवीन आमरे के 25 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने से चूक गए.


केपटाउन टेस्ट के दूसरे दिन जब टीम इंडिया के सारे दिग्गज और विशेषज्ञ बल्लेबाज पैवेलियन लौट गए थे. और भारतीय टीम सौ रन से भी पहले सिमटती दिखाई पड़ रही थी, तब युवा पंड्या ने भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर बहुमूल्य साझेदारी करके  टीम पर छाए संकट के बादलों को काफी हद तक दूर कर दिया. हार्दिक ने अपनी बहुमूल्य  पारी में 14 चौके और एक छक्का लगाया.


हार्दिक जिस प्रकार शॉट खेल रहे थे उसे देख के बिल्कुल भी नहीं लगा कि वह दक्षिण अफ्रीकी धरती पर अपनी पहली पारी खेल रहे हैं. उन्होंने न केवल  इस देश में अपनी पहली ही पारी में अर्धशतक जड़ा, बल्कि वह उस रिकॉर्ड को तोड़ने के बिल्कुल नजदीक पहुंच गए थे, जो पच्चीस साल पहले साल 1992 के भारतीय टीम के दौरे में प्रवीण आमरे ने डरबन टेस्ट में बनाया था.

About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *