खेल

पीवी संधू करेंगी, 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय दल की अगुवाई

पीवी संधू करेंगी, 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय दल की अगुवाई

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू  ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में 4 अप्रैल से शुरू हो रहे 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय दल की अगुवाई करेंगी.शनिवार को भारतीय ओलंपिक संघ(आईओए) ने  घोषणा की है कि कॉमनवेल्थ गेम्स-2018 में बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु भारतीय दल की ध्वजवाहक होंगी.
माना जा रहा है कि सिंधू को 2014 रियो ओलंपिक में रजत पदक जीतने का ईनाम मिला है. हालांकि इसके लिए सायना नेहवाल, एमसी मैरीकॉम और साक्षी मलिक के नाम भर भी चर्चा की गई लेकिन बाजी सिंधू के हाथ लगी.

इस बार 222 खिलाड़ियों का होगा दल

कॉमनवेल्थ गेम्स-2018 के लिए इस बार भारत 222 खिलाड़ियो के साथ मैदान में उतरेगा.यह साल 2010 में दिल्ली में आयोजित 19वें राष्टमंडल खेलों के बाद दूसरा सबसे बड़ा भारतीय दल है.14 साल बाद भारतीय किसी महिला खिलाड़ी को भारतीय दल का नेतृत्व करने का मौका मिला है. साल 2004 में एथेंस ओलंपिक में अंजू बॉबी जॉर्ज ने फ्लैग बियरर की भूमिका निभाई थी.इसके बाद ये जिम्मेदारी लगातार पुरुष खिलाड़ियों को मिली है.
पिछले कुछ राष्ट्रमंडल खेलों में ओलंपिक पदक विजेता खिलाड़ियों ने भारतीय दल का नेतृत्व किया था. इस बार भी ये सिलसिला जारी है.साल 2014 में ग्लास्गो में आयोजित राष्टमंडल खेलों में लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता विजय कुमार भारतीय फ्लैग बियरर थे.
वहीं 2010 में भारत की मेजबानी में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा भारत के ध्वजवाहक बने.2006 मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेलों में 2004 ग्रीस ओलंपिक के रजत पदक विजेता निशानेबाज राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भारतीय दल की कमान थामी थी.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *