राजस्थान

राजस्थान में दीन दयाल उपाध्याय पर सरकार और विपक्ष आमने -सामने

राजस्थान में  दीन दयाल उपाध्याय पर सरकार और विपक्ष आमने -सामने

राजस्थान सरकार अपने चार वर्ष के कार्यकाल पूर्ण होने के उपलक्ष्य में बड़ा फैसला लेने जा रही है, अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो राजस्थान सरकार ने फैसला लिया है कि अब सरकार के किसी भी फैसले या आदेश के पत्र पर राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह अशोक स्तंभ के साथ बीजेपी के चिंतक दीनदयाल उपाध्याय का फोटो लगा हुआ लोगो भी छपेगा.

फाइल फोटो

राजस्थान सरकार ने यह तय किया है कि राज्य में चार साल भाजपा  की सरकार पूरा होने पर इस बात की घोषणा की जाएगी कि अब सभी सरकारी फाइलों और सरकारी दस्तावेजों पर दीनदयाल उपाध्याय का लोगो लगी हुई तस्वीर होगी.
उधर कांग्रेस ने इस फैसले का विरोध किया है, कांग्रेस के विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने कहा कि राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह के साथ किसी पार्टी के नेता की तस्वीर लगाना गलत है.
ज्ञात रहे कि, इससे पहले भी राजस्थान सरकार ने ये आदेश निकाला था कि राज्य सरकार के किसी भी प्रचार सामग्री में दीनदयाल उपाध्याय का लोगो लगा हुआ फोटो जरुर छापा जाएगा. यह भी तय किया था कि लोगो को जमीन के पट्टे दिए जाएंगे. उनके ऊपर भी एक तरफ जमीन के मालिक की तस्वीर होगी तो दूसरी तरफ दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर होगी. लेकिन कानूनी पचड़े की वजह से राजस्थान सरकार को ये फैसले वापस लेना पड़ा था.

Avatar
About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *