महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा भी राजसमंद  राजस्थान में हुई घटना पर अपने आप को रोक नहीं पाए. उन्होंने विचलित होते हुवे ट्वीट किया – के अगर हम सभ्य समाज होने का दावा करते हैं तो हमें इस समय इन्साफ करना होगा. उन्होंने भारतीय मीडिया की गैर ज़िम्मेदारी वाली रिपोर्टिंग पर भी आपत्ति जताई. कहा के एक ठन्डे कलेजे से की गयी हत्या को टेलीविज़न का ड्रामा बना कर पेश किया जा रहा हे


राजसमंद  राजस्थान की इस घटना से मुस्लिम समुदाय में एक भय का माहौल देखा जा रहा है, घटना की सर्वत्र निंदा की जा रही है . इसी कड़ी में वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी ने फ़ेसबुक पोस्ट करके इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी. ओम थानवी लिखते हैं –
राजसमंद (उदयपुर) में लव-जेहाद के नाम पर एक मुसलिम मज़दूर की हत्या एक सिरफिरे बदमाश ने विडियो बनवाते हुए ऐसे की मानो बहादुरी का काम करने जा रहा हो। उचित ही उसकी थू-थू हो रही है।
लेकिन ‘लव-जेहाद’ का गंदा आरोप या विचार उछाला किसने था? किन लोगों ने हिंदू युवतियों के ख़िलाफ़ मुसलिम युवकों को प्यार के नाम पर कथित लव-जेहाद का साज़िशी ठहरा कर अपनी मुसलिम-विरोधी ललकार का निशाना बनाया? सहज प्रेम को जेहाद ठहरा कर न सिर्फ़ प्रेम-मोहब्बत की हत्या की, बल्कि हिंदू युवकों को सरेआम हत्याएँ करने को उकसाया?
इसलिए असल गुनहगार वे लोग हैं, जिन्होंने यह ज़हर भरा। अब वे – हमेशा की तरह – चुप हैं। चुप भी। ख़ुश भी?

 

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *