कलाकर वों कलाकर जो सिनेमा जगत का “पहला सुपरस्टार” था,वो कलाकार जिसके लिए लड़कियां खून से लिखें खत भेजा करती थी,और उसकी खूबसूरती का ये आलम था कि वो काले कपड़े नही पहन सकता था,क्योंकि ये उसे शोभा नही देता था,यहां बात हो रही है उस कलाकर से जो अपने दम पर बना रहा और राज किया।
ये कोई और नही ये है राजेश खन्ना जिन्हें “काका” कह कर आज भी दुनिया याद करती है। राजेश खन्ना वो कलाकर थे जिनकी लगातर 13 फिल्में सुपरहिट हुई,उनके पास वक़्त नही होता था घर जाने का,फिल्में साइन करने का क्योंकि उनके मसरूफ होने का यही आलम था। ऐसा होना लाज़मी भी था क्योंकि राजेश खन्ना ने जो हासिल किया वो ऐसा ही था।
उन्होंने कुल 180 फ़िल्मों और 163 फीचर फ़िल्मों में काम किया, 128 फ़िल्मों में मुख्य भूमिका निभायी, 22 में दोहरी भूमिका के अतिरिक्त 17 छोटी फ़िल्मों में भी काम किया। 29 दिसंबर 1942 को अमृतसर में पैदा हुए बॉलीवुड के पहले सुपर स्टार और सबके दिलों में राज करने वाले राजेश खन्ना का आज 75वां जन्मदिन मनाया जा रहा है. हिंदी सिनेमा का एक ऐसा कलाकार जिसने बताया की सुपरस्टार क्या होता है,राजेश खन्ना हमेशा याद रहने वाले वो शख़्स है जो इतने बड़े कलाकार होने के बावजूद भी बहुत सभ्य इंसान भी थे।
आज से लगभग 5 साल पहले राजेश खन्ना इस दुनिया को छोड़ कर चलें गए,और अपने अनेकों प्रशंसको के लिए एक उदासी छोड़ गए जो हमेशा बनी रहेगी क्योंकि राजेश खन्ना ऐसी ही शख्सियत थे जो हमेशा याद रहेंगे सिर्फ इसलिए नही की वो बहुत बड़े कलाकर थे बल्कि इसलिए भी बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे और ये बात हमेशा याद रखी जायेगी। राजेश खन्ना की ही एक फ़िल्म का संवाद है कि “ज़िन्दगी बड़ी होनी चाहिए लम्बी नही” और उनकी जी गई ज़िन्दगी यही बताती है।

असद शैख़
About Author

Asad Shaikh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *