January 23, 2022
उत्तरप्रदेश

UP में चल रहें है फोटोशॉप प्रोजेक्ट ?

UP में चल रहें है फोटोशॉप प्रोजेक्ट ?

गुरुवार (25 नवम्बर) को प्रधानमंत्री मोदी UP के ज़ेवर पहुंचे और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का इनॉग्रेशन किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ज़ेवर एयरपोर्ट एशिया के सबसे बड़े हाइवे अड्डे में से एक होगा। जिसकी 2024 तक चालू होने की उम्मीद हैं।
1,330 एकड़ जमीन पर फैले इस एयरपोर्ट में प्रति वर्ष 1.2 करोड़ यात्रियों को संभालने की क्षमता हैं।

UP सरकार के मुताबिक, UP में लगातार विकास कार्य किये जा रहे हैं। UP को हाईटेक बनाया जा रहा है, नई नई प्रौद्योगिकी से जोड़ा जा रहा है। लेकिन इस बार फिर गज़ब हो गया। दरअसल, UP सरकार ने अपने ज़ेवर एयरपोर्ट के पोस्टर पर तस्वीर किसी दूसरे देश के एयरपोर्ट की लगा डाली। ऐसा पहली बार नहीं है, इससे पहले भी UP सरकार अपने दो पोस्टर्स को लेकर घिर चुकी है।

इनॉग्रेशन में पीएम मोदी ने क्या कहा

दिल्ली से 99 किलोमीटर दूर ज़ेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के इनॉग्रेशन के बाद पीएम मोदी ने मंच से अपने सम्बोधन में कहा, UP बहुराष्ट्रीय कंपनियों का केंद्र बिंदु बन गया है। 7 दशक बाद UP को वो मिल रहा है जिसका UP हकदार है। उन्होंने कहा डबल इंजन सरकार के प्रयासों से यूपी देश के सबसे जुड़े हुए क्षेत्रों में बदल रहा है।

पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा, की पिछली सरकारों ने यूपी को अंधेरे में रखा, ज़ेवर हवाई अड्डा एक उदाहरण है कि कैसे यूपी औए केंद्र की पिछली सरकारों ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास की अनदेखी की है। उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी ज़ेवर एयरपोर्ट के माध्यम से लोगो को रोजगार मिलने की बात कही।

UP सरकार के पोस्टर पर चीन के बीजिंग एयरपोर्ट की तस्वीर :

हर बार की तरह इस बार भी UP सरकार ने अपने कामों का बखान करने के लिए एक पोस्टर बनवाया पोस्टर में लिखा, UP की तरक्की का ज़ेवर। पोस्टर में हाथ हिलाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे। आगे लिखा हुआ था, ” ज़ेवर में बन रहा है UP का 5वां इंटरनेशनल एयरपोर्ट, वहीं UP 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य बना। पोस्टर में एक एयरपोर्ट की तस्वीर भी थी।

 

हालांकि, पिछली बार की तरह सोशल मीडिया के कुछ विशेषज्ञों ने इस बात को पकड़ा लिया कि पोस्टर में जिस एयरपोर्ट की तस्वीर छापी गयी है वो ज़ेवर एयरपोर्ट की नहीं। बल्कि, कथित तौर पर हमारे दुश्मन देश चीन के बीजिंग एयरपोर्ट की है। दी प्रिंट के मुताबिक, बीजिंग एयरपोर्ट की तस्वीर को ‘नोएडा’ ट्वीट करने पर चीनी मीडिया ने बीजेपी के मंत्रियों और नेताओं की खिंचाई की है।

बीजिंग एयरपोर्ट को ज़ेवर एयरपोर्ट बताते हुए किसने क्या कहा :

क्षेत्रीय मीडिया के हवाले से BJP के कई मंत्रियों ने चीन के बीजिंग एयरपोर्ट को ज़ेवर एयरपोर्ट बताते हुए ट्वीट किया। मीडिया के हवाले से इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ये ट्वीट अब ट्विटर पर आपको मिलेंगे नहीं।


बहरहाल, यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने चीनी एयरपोर्ट को नोएडा एयरपोर्ट बताते हुए कहा, एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट के रूप में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट अपने साथ 35,000 करोड़ का इन्वेस्ट भी लाने जा रहा है। इससे एक लाख से अधिक लोगो को रोजगार मिलेगा और विकास की गति भी तेज होगी।

वहीं उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, अनुराग ठाकुर, अर्जुन राम मेघवाल और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे प्रकाश सिंह ने भी इसी तस्वीर को ट्वीट करते हुए इसे ज़ेवर का नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बताया।

कलकत्ता के फ्लाईओवर और अमेरिकी कंपनी को लेकर बन चुके हैं पोस्टर :

बीते महीनों पहले यूपी सरकार ने एक और पोस्टर जारी किया था जिसका शीर्षक “transforming uttarpradesh under yogi adityanath” था। जिसमे भी दो तस्वीरे दिखाई गई थी, जिसमे एक कलकत्ता का फ़्लाईओवर था तो दूसरा अमेरिका की एक कंपनी के वर्किंग साइट का फोटो।

Photo : twitter


इस पर भी सोशल मीडिया पर काफी बवाल हुआ था, यूज़र्स अलग अलग देशों की फोटो किसी और नाम के साथ शेयर कर रहे थे। हालांकि, ममता बनर्जी ने मीडिया से कहा था कि फलाईओवर पश्चिम बंगाल का है और उनकी सरकार में बना है।

Photo : social media


इसके अलावा UP सरकार की तरफ से एक और पोस्टर रिलीज़ किया गया था जिसमे तेलंगाना में कृष्णा नदी पर बने एक डेम को बुलंदशहर का डेम प्रोजेक्ट बताया गया था। अब सवाल ये हैं कि अगर UP में विकास कार्य हो रहे हैं तो पोस्टर्स में किसी दूसरे देश के एयरपोर्ट या दूसरे राज्य के फ्लाईओवर की तस्वीरे क्यों दी जा रही हैं। UP में विकास प्रोजेक्ट के नाम पर फोटोशॉप प्रोजेक्ट क्यों चल रहे हैं?





About Author

Sushma Tomar