एक तो हाड कम्पा देने वाली सर्दी और ऊपर से ये कोहरा लोगों पर जान लेवा होता जा रहा है. उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड और शीतलहर से जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है. ठंड में गलन की स्थिति ने कोढ़ में खाज सरीखे हालात पैदा कर दिए हैं.
 
गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस सीजन का सबसे ठंड दिन रहा. इस दौरान न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस रहा. मौसम विभाग ने ये जानकारी दी. विभाग ने बताया कि दिल्ली का अधिकतम तापमान 20.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है.
मैदान के साथ ही पहाड़ों में भी पारा लुढ़क रहा है. गुरुवार सुबह तक सड़कों पर यातायात तो प्रभावित रहा ही, साथ ही रेलगाड़ियों की रफ्तार भी सुस्त पड़ गई। उत्तर प्रदेश में ठंड से प्रभावित मरीजों की भी संख्या बढ़ी है. कोहरे से हुए सड़क हादसों में लोगों की मौत हो रही.
इस दौरान घना कोहरा छाए रहने के कारण दृश्यता का स्तर घटकर 50 मीटर से भी कम हो गया. इसमें बाद में कुछ सुधार हुआ.
कोहरे से विमान और रेल सेवाएं भी काफी प्रभावित रही. एक रेलवे अधिकारी ने बताया कि 92 ट्रेनें देरी से चल रही हैं जबकि 44 ट्रेनों का समय बदला गया है और 19 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया.
हवाई अड्डे के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कोहरे के कारण लगभग 198 घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में देरी हुई. उन्होंने कहा कि दृश्यता का स्तर खराब होने की वजह से 11 उड़ानों को रद्द कर दिया गया.
वैज्ञानिक एफ एवं अतिरिक्त महानिदेशक भारतीय मौसम विज्ञान विभाग डॉ. ए के श्रीवास्तव ने बताया कि मौजूदा समय में भारत में तीन दिन तक सटीक भविष्यवाणी की जा रही है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *