January 23, 2022
#ट्रेंडिंग टॉपिक स्वास्थ्य

डेल्टा वेरिएंट से भी खतरनाक है ‘ ओमिक्रॉन ’

डेल्टा वेरिएंट से भी खतरनाक है ‘ ओमिक्रॉन ’

– भारत के 5 राज्यों से अब तक 23 मामले आए सामने

पिछले 2 साल से देश कोरोना (Corona) को लेकर जूझ रहा है। कोरोना की दूसरी लहर से अभी लोग उभर ही रहे हैं। देश में रोजाना 6,000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। इसी बीच कोरोना के एक नए और अब तक के सबसे अधिक खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) ने भारत में अपने कदम जमाने शुरू कर दिए है।

भारत में ओमिक्रॉन (Omicron) के सबसे पहले दो मामले कर्नाटक (Karnataka) राज्य से सामने आए। देशभर में अब तक इस नए वेरिएंट के कुल 23 मामले सामने आए है और यह 5 राज्यों में फैल चुका है। यह नया वेरिएंट साउथ अफ्रीका (South Africa) से पूरी दुनिया में फैला है।

क्या है ओमिक्रॉन?

ओमिक्रॉन (Omicron) वेरिएंट SARS – CoV – 2 का ही एक प्रकार है। यह भी कोविड -19 वायरस के फैलने का कारण बनता है। इसके सबसे पहले मरीज की पुष्टि साउथ अफ्रीका  में 24 नवंबर को हुई। जिसके बाद 26 नवंबर को डब्ल्यूएचओ (WHO) ने इसे एक गंभीर और चिंताजनक कोरोना वेरिएंट बताया। यह कोरोना के पहले दो वेरिएंट, डेल्टा (Delta) और डेल्टा प्लस (Delta Plus) से भी ज्यादा खतरनाक है ।ओमिक्रॉन नाम ग्रीक (Greek) वर्णमाला के 15वें अक्षर से लिया गया है।

इसके लक्षण काफी हद तक पहले दो वेरिएंट जैसे ही है। मगर यह उनसे काफी ज्यादा जानलेवा साबित हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार, ओमिक्रॉन वेरिएंट का एक मरीज संक्रमण को 16 लोगों तक फैला सकता है। इसके बचाव के लिए कोविड गाइडलाइंस जैसे, मास्क पहनना, आपस में दूरी बनाए रखना, आदि का पालन करना बहुत आवश्यक है।

भारत में अब तक कुल 23 मरीज

भारत में ओमिक्रॉन का पहला केस 2 दिसंबर को सामने आया था। कोरोना वेरिएंट ओमिक्रॉन के भारत में अब तक पांच राज्यों से कुल 23 मरीजों की पुष्टि की जा चुकी हैं।  इनमें कर्नाटक, गुजरात (Gujrat), महाराष्ट्र (Maharashtra), दिल्ली (Delhi) और राजस्थान (Rajasthan) शामिल हैं। ओमिक्रॉन ने भारत में अपना पहला कदम कर्नाटक में रखा। यहां 66 साल और 46 साल के दो व्यक्तियों में ओमिक्रॉन वेरिएंट की पुष्टि हुई थी। सभी 23 मामलों में मरीज का कनेक्शन साउथ अफ्रीका से है।

अब तक मिले मरीजों में से किसी भी मरीज की जान नहीं गई है। महाराष्ट्र के पुणे (Pune) में मिला मरीज 47 साल का है। विशेषज्ञों के अनुसार, यह वेरिएंट कम उम्र के लोगों में काफी तेजी से फैल सकता है। अब तक राजस्थान से इसके 9 मामले, महाराष्ट्र से 10 मामले, कर्नाटक से 2 मामले, दिल्ली से 1 मामला और गुजरात से 1 मामला देखने को मिला हैं।

सरकार ने लिए कड़े फैसले

इस नए वेरिएंट के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए भारत सरकार ने 12 देशों से आने वाले यात्रियों पर कुछ पाबंदियां लगाई है। साथ ही उनकी टेस्टिंग की जाएगी और उन्हें क्वॉरेंटाइन रहना होगा। यह देश ‘ एट रिस्क (At Risk) ‘ वाले देश – यूके (UK), साउथ अफ्रीका (South Africa), ब्राजील (Brazil), हांगकांग (Hong Kong), चीन (China), घाना (Ghana), न्यू जीलैंड (New Zealand), मॉरीशस (Mauritius), जिम्बाब्वे (Zimbabwe), सिंगापुर (Singapore), बोट्सवाना (Botswana) और इजराइल (Israel) है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने इस पर अपनी चिंता जताते हुए भारत सरकार से सभी हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए वैक्सीन की पूरी डोज दिए जाने का आग्रह किया है। एसोसिएशन ने 12 से 18 साल के बच्चों के लिए बन रहे वैक्सीन में भी तेजी लाने का आग्रह किया है।

राज्य भी हो गए हैं सतर्क 

ओमिक्रॉन (Omicron) के बढ़ते खतरे को देखते हुए यूपी सरकार ने राज्य की राजधानी लखनऊ में धारा 144 लागू कर दिया है। साथ ही जिम, सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट, होटल, आदि को 50% क्षमता से चलाने के आदेश दिए हैं। बंद जगहों में होने वाले आयोजनों में 100 लोग के उपस्थित होने के ही आदेश दिए गए हैं।

गुजरात में एक मामला सामने आने के बाद राज्य सरकार सतर्क है। अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में ओमिक्रॉन वार्ड (Omicron Ward) बनाया गया है। इसमें फिलहाल के लिए ऑक्सीजन और वेंटिलेटर वाले बेड रखे गए हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना टेस्ट के दाम कम कर दिए है। सरकार ने जनता को राहत देने के लिए समय-समय पर इसकी कीमत में कटौती की है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को कोरोना टेस्ट के नए संसोधित दर के अध्यादेश को जारी किया है।

About Author

Ankit Swetav