एक जवान के गायब होने का मामला जितना सनसनीखेज था, उतना ही चौंकाने वाली उसके मिलने की घटना रही. भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) का करीब दो माह से गायब जवान मिल गया. ये जवान रायपुर से बीकानेर एक्सप्रेस में सवार होने के बाद से लापता था.
 
रायपुर रेलवे स्टेशन से दो महीने से गायब आईटीबीपी का जवान रामकुमार सराठे शुक्रवार सुबह रहस्यमय तरीके से जबलपुर के ओमती थाने में पहुंच गया. जवान ने पुलिस से कहा कि उसे ससुराल वालों ने दो महीने से भिलाई में बंधक बना रखा था.
जवान का आरोप है कि उसके सुसराल के लोगों ने ही उसका अपहरण किया और दो माह तक उसे बंधक बनाकर रखा. पुलिस ने मामले को जांच में लिया है.
उसे कार से कहीं ले जा रहे थे, तभी वह भाग निकला. उसे एक बाइक वाले युवक ने ओमती थाने के पास छोड़ दिया. पुलिस ने जवान को आईटीबीपी और उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया है.
पुलिस के अनुसार इटारसी निवासी रामकुमार सराठे रायपुर स्थित आईटीबीपी में हवलदार है. उसका विवाह रांझी में हुआ था. रामकुमार शुक्रवार सुबह ओमती थाने पहुंचा.
उसने पुलिस को बताया कि वह दो महीने पहले रायपुर से छुट्टी पर बीकानेर एक्सप्रेस से घर जा रहा था. इसी दौरान कुछ युवकों ने मिलकर उसका अपहरण कर लिया.  उसे जबरन अपने साथ लेकर गए और एक कमरे में बंद कर दिया.
ओमती पुलिस थाना प्रभारी अरविंद चौबे के अनुसार आईटीबीपी के हवलदार रामकुमार पर उसकी पत्नी ने प्रताडऩा का मामला दर्ज कराया है. रामकुमार थाने पहुंचा था और वह  बातचीत में वह मानसिक रूप से बीमार लगा रहा है  अपहरण और बंधक बनाने की बात सामने नहीं आई. उसे परिजनों के हवाले कर दिया गया है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *