राजनीति

केजरीवाल ने उत्तराखंड में इन्हें मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया है।

केजरीवाल ने उत्तराखंड में इन्हें मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया है।

2012 में आंदोलन से बनी आम आदमी पार्टी ने लगातार खुद को बेहतर किया है। आज जब पार्टी क़रीबन 9 साल की हो गयी है दिल्ली में लगातार सत्ता पर काबिज है। पंजाब में मुख्य विपक्षी पार्टी होते हुए लोकसभा चुनावों में भी वहां उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था।

लेकिन सादे कपड़े पहनने वाले शातिर राजनेता केजरीवाल खुद को राष्ट्रीय नेता की तरह देखना चाहते हैं और इसके लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी है उनकी पार्टी को राष्ट्रीय दर्जा मिल जाना।

2017 में पंजाब और गोवा जैसे राज्यों में मज़बूती से लड़ने वाली आदमी पार्टी इस बार पहाड़ों की तरफ से उम्मीद लगाए बैठी है। उत्तराखंड का पहाड़ी इलाका जिसकी खूबसूरती के चर्चे जगह जगह होते रहते हैं।

हां वहीं राज्य जहां कुछ महीने में 3 मुख्यमंत्री आ गए थे कुछ दिन पहले,केजरीवाल वहां लगातार कांग्रेस और भाजपा के बीच होते हुए मुकाबले के बीच मे आम आदमी पार्टी को लाना चाह रहे हैं।

लेकिन दूध का जला छाज भी फूंक फूंक कर पीता है। पिछली बार पंजाब में मुख्यमंत्री का चेहरा बिना लिए लड़ने वाली केजरीवाल की टीम ये गलती उत्तराखंड में नहीं करना चाहती थी। इसलिए उन्होंने वहां एक नए नाम को उतार दिया है। कर्नल अजय कोठियाल,कौन है ये आइये बताते हैं आपको।

आर्मी मैन रहे कर्नल साहब मुख्यमंत्री के दावेदार होंगें।

1999 में कारगिल की जंग में देश का नेतृत्व करने वाले अजय कोठियाल पर केजरीवाल ने भरोसा दिखाया है। क्योंकि केजरीवाल राष्ट्रभक्ति और चेहरे की राजनीति को मजबूत करना चाहते हैं जिसमे उन्हें महारत है।

ऐसा वो दिल्ली में पहले भी कर चुके हैं। वहीं सादा मिजाज़ और आम लोगों के बीच काफी प्रसिद्ध शख्सियत रिटायर्ड कर्नल अजय का चेहरा लोगों से जुड़ाव में बहुत मददगार साबित होने वाला है।

पुलवामा ज़िलें में 2003 में पहली एयर स्ट्राइक करने वाले अजय कोठियाल देश के लिए जी और जान न्योछावर करने वाले एक योद्धा की तरह रहे हैं । जिन्हें 2012 तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल द्वारा देश का गौरव बढाने के लिये सम्मानित भी किया गया था।

आर्मी जीवन और व्यस्तता को लेकर और देश सेवा में ज़्यादा समय बिताने की वजह से ही कर्नल अजय कोठियाल को अपने परिवार के बनाने के लिए समय नहीं मिल पाया और उन्होंने शादी नहीं की थी। लेकिन फिलहाल नए नए नेता बने अजय कोठियाल पर केजरीवाल ने बड़ा भरोसा जताया है।

क्योंकि ये पहली बार है जब उन्होंने अपने अलावा किसी और बड़े चेहरे को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करते हुए पार्टी नेतृत्व में आगे बढ़ाया है। वरना इससे पहले केजरीवाल ने ऐसा कुछ नहीं किया था। फ्री बिजली और 20 हज़ार लीटर पानी मुफ्त दिल्ली की जनता तक पहुंचाने वाले केजरीवाल ऐसे ही वादे उत्तराखंड वालों से कर रहे हैं और अब इसकी ज़िम्मेदारी अजय कोठियाल उठाने वाले हैं ।

उत्तराखंड में क्या होता आया है?

2000 में बना अलग राज्य उत्तराखंड अभी तक सिर्फ भाजपा और कांग्रेस के बीच ही रहा है। यानी भाजपा जाती है तो कांग्रेस आ जाती है और कांग्रेस जाती है तो भाजपा, हां इस बीच मे बसपा ज़रूर थोड़ा बहुत मार्जिन बढ़ा कर कुछ सीटें जीतने में कामयाब रही है। लेकिन मुख्य तौर पर ये दोनों दल ही यहां अहमियत रखते आये हैं।

मौजूदा स्थिति में भाजपा की सरकार वाला राज्य इस बार किसे चुनेगा ये बड़ा सवाल रहा है क्योंकि यहां कोई भी पार्टी की सरकार लगातार 2 बार शासन नहीं कर पाई है। भाजपा के तो कोई भी मुख्यमंत्री यहां अपना 5 साल का कार्यकाल ही पूरा नहीं कर पाए हैं।

फिलहाल में केजरीवाल फ्री 200 यूनिट बिजली और 20 हज़ार लीटर पानी के वादे के साथ कर्नल अजय कोठियाल को मुख्यमंत्री के दावेदार की तरह लेकर आये हैं। जो बहुत बड़ा राजनीतिक चेहरा भी नहीं हैं। इस बीच उनके लिए कांग्रेस और भाजपा से मुकाबला बहुत बड़ी चुनौती होने वाली है।

About Author

Asad Shaikh