October 29, 2020

गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 99 सीट जीत ली. और अब मुख्यमंत्री के चयन के लिए मंथन चल रहा है.
गुजरात के अगले मुख्यमंत्री के नाम पर करीब करीब स्पष्टता है. विजय रूपाणी को दोबारा मुख्यमंत्री की कमान सौंपी जा सकती है. क्योंकि चुनाव लड़ने से पहले भाजपा ने उन्हें ही अगला मुख्यमंत्री का दावेदार घोषित किया था.
लेकिन भाजपा के विधायकों की संख्या 115 से घटकर 99 आने पर मुख्यमंत्री के नाम पर फिर से विचार हो रहा है. सीटें कम आने से स्मृति ईरानी और नितिन पटेल का नाम उछलने लगा है. इसके बावजूद विजय रूपाणी की दावेदारी को कमतर नहीं किया जा सकता है.
मुख्यमंत्रियों का चयन करने के लिए भाजपा ने केंद्रीय पर्यवेक्षकों की नियुक्ति कर दी है. गुजरात के लिए अरुण जेटली और सरोज पांडेय को जिम्मेदारी सौंपी गई है.
चुनाव से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नए मुख्यमंत्री को लेकर स्पष्ट कर दिया था कि वर्तमान मुख्यमंत्री विजय रुपाणी व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ही अगली सरकार के मुखिया होंगे लेकिन चुनाव परिणाम के बाद कई चेहरे इसके लिए चर्चा में हैं. इनमें केन्द्रीय मंत्री स्म्रति ईरानी, पुरुषोत्तम रुपाला, मनसुख मांडविया शामिल हैं.
प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के लिए विजय रुपाणी का नाम तो सबसे ऊपर है ही लेकिन अब केनद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्म्रति ईरानी, केन्द्रीय पंचायत राज राज्यमंत्री पुरुषोत्तम रुपाला, केन्द्रीय सडक परिवहन व हाइवे राज्यमंत्री मनसुख मांडविया के नाम भी इस पद के लिए चल रहे हैं.  नितिन पटेल एक बार फिर उपमुख्यमंत्री बनाए जा सकते हैं, इनके अलावा वनमंत्री गणपतसिंह वसावा, डॉ नीमाबेन आचार्य, राजेन्द्र त्रिवेदी को भी उपमुख्यमंत्री बनाए जाने की संभावना है.
25 दिसम्बर को शपथ-ग्रहण हो सकता है, क्योंकि यह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन है. साल 2012 के चुनावों के बाद नरेंद्र मोदी ने चौथी बार 25 दिसम्बर को ही शपथ ग्रहण किया था.

Avatar
About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *