पूरे देश में हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद आनन फानन में प्रशासन द्वारा पीड़िता की लाश को उसके परिवार वालों की मौजूदगी के बिना जलाए जाने के पश्चात गुस्से का माहौल है। योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ भारी गुस्सा देखा जा रहा है। पीड़िता के परिवार को आज सुबह से ही किसी से संपर्क नहीं करने दिया गया। मीडिया को भी गाँव में प्रवेश से रोका गया।

उत्तरप्रदेश में जो कुछ भी हो रहा है, उसके बाद से ही यपगी आदित्यनाथ की सरकार पूरी तरह से दमन के रास्ते को अपना चुकी है। मीडिया में हो रही किरकिरी से भाजपा को होने वाले संभावित नुकसान को ध्यान में रखते हुए भाजपा की वरिष्ठ नेत्री और मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने एक के बाद एक ढेर सारे ट्वीट किए। जिसमें उन्होंने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस मामले में दोषियों को सज़ा देने की अपील की है।https://twitter.com/umasribharti/status/1312019968175693824

उमा भारती ने अपने ट्वीट्स में कहा –

आदरणीय योगी आदित्यनाथ जी आपको जानकारी होगी ही की मै कोरोना पॉज़िटिव पाने से AIIMS ऋषिकेश में कोरोना वार्ड में भरती हू । आज मेरा 7 वा दिन है और इसलिये मै अयोध्या मामले पर विशेष सीबीआइ कोर्ट में पेश भी नही हो पायी । यद्यपि मै किसी से मिल नही सकती , फ़ोन नही कर सकती लेकिन टीवी है जिससे की समाचार मिलते है ।

इसके बाद उमा भारती ने कहा – मैंने हाथरस की घटना के बारे में देखा । पहले तो मुझे लगा की मै ना बोलूँ क्यूँकि आप इस सम्बंध में ठीक ही कार्यवाही कर रहे होंगे । किन्तु जिस प्रकार से पुलिस ने गाव की एवं पीड़ित परिवार की घेराबंदी की है उसके कितने भी तर्क हो लेकिन इससे विभिन्न आशंकाये जन्मती है । वह एक दलित परिवार की बिटिया थी । बड़ी जल्दबाज़ी में पुलिस ने उसकी अंत्येष्टि की और अब परिवार एवं गाव की पुलिस के द्वारा घेराबंदी कर दी गयी है । मेरी जानकारी में ऐसा कोई नियम नही है की एसआइटी जाँच में परिवार किसीसे मिल भी ना पाये । इससे तो एसाईटी की जाँच ही संदेह के दायरे में आ जायेगी ।

आगे रामराज्य के संबंध में बात करते हुए उमा भारती ने कहा – हमने अभी राम मंदिर का शिलान्यास किया है तथा आगे देश में रामराज्य लाने क़ा दावा किया है किन्तु इस घटना पर पुलिस की संदेहपूर्ण कार्यवाही से आपकी उत्तरप्रदेश सरकार की , तथा भाजपा की छवि पे आँच आयी है ।

आगे उन्होंने विपक्षी दलों और मीडिया को पीड़ित परिवार से मिलने देने की अपील करते हुए कहा – आप एक बहुत ही साफ़ सुधरी छवि के शासक है । मेरा आपसे अनुरोध है कि आप मीडियाकर्मियों को एवं अन्य राजनीतिक दलो के लोगों को पीड़ित परिवार से मिलने दीजिये । मै कोरोना वार्ड में बहुत बैचेन हू । अगर मैं कोरोना पॉज़िटिव ना होती तो मैं भी उस गाव मै उस परिवार के साथ बैठी होती । AIIMS ऋषिकेश से छुट्टी होने पर मै हाथरस में उस पीड़ित परिवार से ज़रूर मिलूँगी । मै भाजपा में आपसे वरिष्ठ एवं आपकी बड़ी बहन हू । मेरा आग्रह है की आप मेरे सुझाव को अमान्य मत करियेगा।

उमा भारती के ये ट्वीट्स ऐसे समय में आए हैं, जब योगी आदित्यनाथ की सरकार चारों तरफ़ से अपनी कार्यप्रणाली के लिए आलोचनाओं का शिकार हो रही है। ऐसे में इन ट्वीट्स को सुझाव समझा जाए या योगी पर घर के ही सदस्यों द्वारा किया गया वार?

 

Avatar
About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *