October 29, 2020

गुजरात में चुनावी माहौल गर्मागर्म चल रहा है, भाजपा का गढ़ कहे जाने वाले गुजरात में एक सर्वे ने भाजपा की नींद ही उड़ा दी. दोनों मुख्य पार्टियों ने ताबड़ तोड़ रैलियों के द्धारा आरोप प्रत्यारोप और वादे भी खुब किये है, लोकतंत्र की सबसे ताकतवर ईकाई माने जाने वाली जनता भी इस पूरे राजनीति द्वंद पर गहरी नजर बनाए हुए है. लेकिन इस बार जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा, कौन बाजी मारेगा, यह तो 18 दिसंबर के गर्भ में छिपा हुआ है.
ज्ञात होकि गुजरात चुनाव भाजपा के लिए लाज बचाने जैसा है, क्योंकि गुजरात मॉडल के नाम पर ही भाजपा केंद्र की सत्ता में आई थी, पर अब मामला पलटता नज़र आ रहा है. क्योंकि दिनों -दिन कांग्रेस की मज़बूत होती स्थिति भाजपा के लिए परेशानी का सबब बन सकती है. कई चुनावी पंडितों का ऐसा मानना है, कि गुजरात में भाजपा की हार का असर भाजपा को आने वाले अन्य विधासभओं और लोकसभा चुनावों में देखना पड़ सकता है.
पहले हार्दिक पटेल की सूरत रैली में उमड़ा जनसैलाब और अब ये ओपिनियन पोल, दोनों ही गुजरात चुनाव में भाजपा की कहानी को बयाना कर रहे हैं. भाजपा के लिए चिंता की वजह ये भी है, कि भाजपा नेताओं की सभा में भीड़ नदारद है. यहाँ तक की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में भी कुर्सियां अधिकतर खाली रह रही हैं. जो कि भाजपा के लिए चिंता का विषय है.

सूरत में हार्दिक पटेल की रैली में उमड़ा जनसैलाब

सह और मात के इस खेल में रोज रंग बदलती गुजरात की राजनीति में पूरा देश दिलचस्पी ले रहा है. सभी की जुबान पर एक ही सवाल, किसकी बनेगी सरकार?
भाजपा के लिए नाक का सवाल बन चुका गुजरात विधानसभा चुनाव और 2019 का सेमीफाइनल कहा जाने वाला चुनाव गले का फ़ांस बनता दिखाई दे रहा है
एबीपी न्यूज-लोकनीति-सीएसडीएस के ओपिनियन पोल के मुताबिक, बीजेपी को 91 से 99 सीटें, कांग्रेस को 78 से 86 सीटें, अन्य को 3 से 7 सीटें मिल सकती हैं. अगर इन आंकड़ों का औसत निकालें तो गुजरात में बीजेपी को 95 सीटें, कांग्रेस को 82 और अन्य के खाते में 5 सीटें जा सकती हैं. यानि बीजेपी एक बार फिर मामूली बढ़त के साथ सरकार बना सकती है. गुजरात के चारो क्षेत्रों के वोट शेयर मिला दिए जाएं तो बीजेपी-43% और कांग्रेस 43% वोट शेयर के साथ आमने-सामने हैं. अन्य के खाते में 14% शेयर जा सकते हैं.

एबीपी की ओपिनियन पोल

भाजपा 95
कांग्रेस 82
अन्य 05

सौराष्ट्र-कच्छ (54 सीटें)

भाजपा 45%
कांग्रेस 39%
अन्य 16%

उत्तर गुजरात (53 सीटें)

भाजपा 45%
कांग्रेस 49%
अन्य 06%

दक्षिण गुजरात (35 सीटें)

भाजपा 40%
कांग्रेस 42%
अन्य 18%

मध्य गुजरात (40 सीटें)

भाजपा 41%
कांग्रेस 40%
अन्य 19%

कुल

भाजपा 43%
कांग्रेस 43%
अन्य 14%

एबीपी न्यूज़ के इस सर्वे के पहले भी दो सर्वे और आये थे, हर सर्वे में कांग्रेस की स्थिति पहले से बहतर हुई है, जिससे भाजपा के माथे पर शिकन देखा जा सकता है. क्योंकि अब चुनावी गणित जिस स्थिति में पहुंच गया है. उससे तो यही अनुमान लगाया जा सकता है, कि गुजरात के रण में भाजपा की राह आसान नहीं है .

Avatar
About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *