उद्योगपति राहुल बजाज इस समय चर्चा में हैं, दरअसल राहुल बजाज ने ईकोनॉमिक टाईम्स के एक प्रोग्राम के दौरान मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कई मुद्दों पर सरकार को घेरा। जब राहुल बजाज सरकार की आलोचना कर रहे थे, तब उनके सामने मंच पर गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री पीयूष गोयल बैठे हुए थे।
‘इकोनॉमिक टाइम्स’ के ईटी अवार्ड्स-2019 के दौरान मंच पर बैठे हुए गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में बजाज ने कहा, ”ये जो माहौल है… वो हमारे मन में है। कोई बोलेगा नहीं. कोई बोलेगा नहीं हमारे इंडस्ट्रियलिस्ट में।
डर के माहौल का ज़िक्र करते हुए राहुल बजाज ने कहा – मैं यह खुलेआम कह रहा हूं. एक माहौल तैयार करना पड़ेगा। UPA-2 सरकार में हम किसी को भी गाली दे सकते थे। आपके खिलाफ बोलने से लोग डरते हैं। आप अच्छा काम कर रहे हैं, तो फिर लोगों को बोलने की आजादी क्यों नहीं?”
उन्होंने आलोचना के अधिकार और अभिव्यक्ति की आज़ादी पर बात करते हुए कहा, ”आप अच्छा काम कर रहे हैं, पर अगर हम आपकी खुलेआम आलोचना करना चाहते हैं, तो इस बात का भरोसा नहीं है, कि आप उसे बर्दाश्त करेंगे। मैं गलत हो सकता हूं. लेकिन, हर कोई इस बात को महसूस करता है। मुझे यहां यह बात कहनी नहीं चाहिए।
हर बात में मोदी सरकार द्वारा पंडित नेहरू का नाम लिए जाने पर राहुल बजाज ने तंज कसते हुए और वहाँ बैठे अन्य उद्योगपतियों को निशाने पर लेते हुए कहा – यहां हंस रहे हैं लोग… कि चढ़ जा बेटा सूली पर। उन्होंने यह भी कहा, ”मैं यहां किसी का स्तुतिगान करने नहीं आया हूं। आप इसे पसंद नहीं करेंगे, लेकिन मेरा नाम (राहुल) जवाहरलाल नेहरू ने रखा था।”


जब राहुल बजाज ये सब बोल रहे थे, तो मंच पर बैठे शाह ने जवाब दिया, ”किसी को डरने की जरूरत नहीं है…” इसके बाद राहुल बजाज ने भोपाल से भाजपा की सांसद और मालेगांव धमाके की अभियुक्त प्रज्ञा ठाकुर का उल्लेख किया और इस बात को रेखांकित किया कि सत्तारूढ़ भाजपा ने उसे टिकट दिया, जिताया। आपके समर्थन से ही वह जीती। फिर रक्षा संबंधी कमेटी में ले आए। प्रधानमंत्री ने भी कहा था कि उसे मन से माफ नहीं कर पाउंगा।
प्रज्ञा ठाकुर द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने और प्रज्ञा को रक्षा समिति में लिए जाने पर राहुल बजाज ने मोदी सरकार के मंत्रियों से सवाल करते हुए कहा, ”मैं मंत्रियों से गोडसे को लेकर प्रज्ञा ठाकुर के बयान के बारे में पूछता हूं… क्या कोई शंका है, कि वह आतंकवादी था, जिसने महात्मा गांधी की हत्या की थी?” इसके जवाब में शाह ने कहा, ”हमने प्रज्ञा ठाकुर के बयान की निंदा कर तो दी थी।” वायरल हो रहा है। इस पर अलग-अलग लोगों की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।


https://twitter.com/AjitaMishra17/status/1200866006907768833?s=20

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *