21वीं सदी के  इस विज्ञानं के दौर में भी लोग भूत पिचास की कहानी पर खूब विश्वाश करते है,एक तरफ हम चाँद पर कदम रख रहे है और दूसरी तरफ लोग अच्छे भले मनुष्य को भूत व डायन कह कर लोगों को गुमराह कर मौत के घाट उतार रहे है. आये दिन अखबारों और चैनलों पर दिखाया जाता रहता है या मिल जाता है कि, फला जगह बच्चे की बली दे दी गई या फला महिला को मौत के घाट उतार दिया जो कि डायन थी.

सांकेतिक फोटो

ऐसे 90 प्रतिशत मामले आदिवासी बहुल एरिया में होते है या शिक्षा से वंचित लोगों द्धारा किये जाते है, इसमे काफी हद तक हमारी सरकारे भी ज़िम्मेदार  है जो शिक्षा पर हो हल्ला तो बहुत करती है पर जमीनी हकीकत से परे. इन सब मौतों पर या तो वो ध्यान नहीं देती या देख कर अनसुना कर देती है या वो सिर्फ इनको सिर्फ वोट बैंक ही समझती है, ये तो वो ही जानें, पर इस पर ध्यान ने की जरूरत है.
ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल अलीराजपुर का प्रकाश में आया है अलीराजपुर जिले के चांदपुर थाना क्षेत्र में एक महिला की बेहरमी से हत्या का सनसनीखेज मामला सामने अया है. एक व्यक्ति ने एक महिला का कथित तौर पर डायन करार देकर धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी और  घटना के बाद स्वयं फरार हो गया.
इस एरिया के थाना प्रभारी जनक सिंह रावत ने आज बताया कि जिला मुख्यालय से 38 किलोमीटर दूर स्थित आंबाडबेरी गांव की घटना शनिवार शाम की है. गांव की महिला झमकुडीबाई (40) अपने 12 साल के पुत्र के साथ गांव की नदी से कपड़े धोकर वापस घर आ रही थी, तभी गांव के ही रहने वाले मथुरिया (43) ने खेत के किनारे महिला के सिर पर धारदार हथियार से हमला कर दिया और हमले में महिला के सिर पर गहरी चोट आई और उसकी मौके पर ही  मौत हो गयी.
उन्होंने बताया कि घटना का विरोध करने पर मथुरिया ने महिला के बेटे से यह कहते हुए मारपीट की कि उसकी मां डायन है और वह उसकी बेटी को मानसिक रूप से बार-बार बीमार करती है.
रावत ने बताया कि महिला की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी थी, लेकिन उसका बेटा तुरंत अपने पिता को बुलाने गया और जब वापस वहां आकर देखा तो मृतका का शव पड़ा हुआ था और आरोपी वहां से फरार हो चुका था. उन्होंने बताया कि पुलिस आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उसकी तलाश कर रही है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *