अब साइबर क्राइम करने वालों की खैर नहीं. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि इंटरनेट पर अपराधों की निगरानी के लिए गृह मंत्रालय के तहत एक साइबर पुलिस बल का गठन किया जाएगा.
राजनाथ सिंह ने गृह मंत्रालय के नवगठित ‘साइबर एंड इंफार्मेशन सिक्युरिटी’ (CIS) डिविजन के लिए कार्ययोजना पर एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि CIS के तहत एक भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र और साइबर पुलिस बल का गठन किया जाएगा.
गृह मंत्री ने इंटरनेट पर अश्लील चीजें साझा करने की बढ़ती घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए, उन्होंने साइबर स्पेस की कड़ाई से निगरानी करने और भारतीय कानूनों का उल्लंघन करने वाली वेबसाइटों को ब्लॉक करने के लिए एक प्रभावी प्रणाली का निर्देश दिया.
सीआईएस डिविजन का गठन गृह मंत्रालय के तहत 10 नवम्बर 2017 को किया गया था. इसमें कहा गया है, ‘‘CIS में चार शाखाएं होंगी जिसमें मुख्य तौर पर सिक्युरिटी क्लीयरेंस, साइबर क्राइम प्रिवेंशन, साइबर सिक्युरिटी और इंफार्मेशन सिक्युरिटी विंग शामिल है. प्रत्येक का नेतृत्व अवर सचिव स्तर के एक अधिकारी द्वारा किया जाएगा.’’

About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *