तमिलनाडु

चेन्नई में पीएम मोदी को क्यों दिखाये गये काले झंडे?

चेन्नई में पीएम मोदी को क्यों दिखाये गये काले झंडे?

कावेरी नदी जल विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी डिफेंस एक्सो 2018 का उद्घाटन करने के गुरूवार की सुबह चेन्नई पहुंचे.
प्रधानमंत्री के इस दौरे का कई संगठन विरोध कर रहे हैं.इसी सिलसिले में गुरुवार को एयरपोर्ट के नजदीक अलंदुर इलाके में प्रदर्शनकारियों ने काले झंडे दिखाकर विरोध किया.
इस दौरान टीवी के नेता वेल्मुरुगन सहित अन्य लोगों को हिरासत में ले लिया गया.
क्या है कावेरी विवाद
सुप्रीम कोर्ट ने कावेरी नदी के जल के बंटवारे में तमिलनाडु के हिस्से का पानी घटा दिया और कर्नाटक का हिस्सा बढ़ा दिया था.
इसके अलावा कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) और कावेरी जल नियामक समिति (सीडब्ल्यूआरसी) अभी तक गठन नहीं हुआ. इन बातों को लेकर तमिलनाडु में विरोध प्रदर्शन जारी है.
बता दें कि तमिलनाडु ने केंद्र के खिलाफ अवमानना की याचिका दायर की थी और कहा था कि वह कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड की स्थापना करने में विफल रही है.
सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने कहा कि 3 मई को तमिलनाडु की उस याचिका पर भी सुनवाई होगी.
इससे पहले 16 फरवरी को सुनाए फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कावेरी जल विवाद पर 6 हफ्तों के अंदर योजना लागू करने के लिए कहा था.इसे लेकर केंद्र ने 6 हफ्तों का समय मांगा था.
यह समय सीमा 29 मार्च को समाप्त हो गई. समयसीमा निकल जाने पर केंद्र ने इसे 3 महीने और बढ़ाए जाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. समय सीमा खत्म होने के बाद से ही चेन्नई और तमिलनाडु में राजनीतिक पार्टियां प्रदर्शन कर रहीं हैं.
डिफेंस एक्सो 2018
देश में हथियारों का सबसे बड़ा मेला डिफेंस एक्सपो  चेन्नई के बाहरी इलाके थिरुविदंदाई में शुरू हो गया है.दसवें डिफेंस एक्सपो की थीम ‘इमर्जिंग डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब’ है.
चार दिन तक चलने वाले डिफेंस एक्सपो में करीब 150 अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शकों सहित 670 से भी ज्यादा प्रदर्शक शिरकत कर रहे हैं. इस साल सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) क्षेत्र का लगभग 15 प्रतिशत का समुचित प्रतिनिधित्व होगा.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *