मुज़फ्फ़रनगर – एक टीवी समाचार चैनल के टॉक शो की शूटिंग के दौरान भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जमकर गुंडागर्दी का प्रदर्शन किया और इस दौरान एक छात्र की इसलिए पिटाई कर दी, क्योंकि छात्र ने उस टॉक शो में नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ़ बोला था.

यह घटना 6 मार्च को उत्तरप्रदेश के मुज़फ्फरनगर में घटित हुई है. हिंदी समाचार चैनल “ भारत समाचार” के लिए इस टॉक शो में नरेंद्र प्रताप एंकरिंग कर रहे थे. भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा पीते गए छात्र का नाम अदनान है. अदनान के माता पिता सऊदी अरब में रहते हैं, अदनान फ़िलहाल अपनी बोर्ड परीक्षाओं के सिलसिले में मुज़फ्फ़रनगर में हैं.

इस घटना के बारे में मीडिया से बात करते हुए, उन्होंने कहा “मैं गुजर रहा था. मैंने देखा कि एक शो चल रहा था, इसलिए मैंने हिस्सा लिया. मैंने कहा कि कोई काम नहीं हो रहा है. वो मुझे आतंकवादी कहने लगे. इसके बाद उन्होंने मुझे पीटना शुरू कर दिया. वे भाजपा के लोग थे. पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है. मैं चाहता हूं कि उन्हें सजा दी जाए. उन्होंने मुझे सिर्फ इसलिए पीटा क्योंकि मैं एक मुस्लिम हूं और मैंने भाजपा के खिलाफ बोला. इसीलिए उन्होंने मुझे पीटा गया है ”

कैरवान डेली में छपी रिपोर्ट के अनुसार – इस घटना के बारे में बताते हुए, समाचार एंकर प्रताप ने कहा “मैंने उनसे क्षेत्र में रोजगार और शिक्षा के अवसरों के बारे में पूछा. उसने बोलना शुरू किया. भाजपा सदस्यों ने तब उन्हें बोलने से रोकने की कोशिश की क्योंकि उन्होंने कहा कि कोई बदलाव नहीं हो रहा है. उन्होंने मुश्किल से 3-4 वाक्य बोले, लेकिन भाजपा के सदस्यों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी. उसे खून निकलने लगा, वह अपनी जान बचाने के लिए भागा. इसे रालोद (RLD) सदस्यों ने बचाया.

सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हुआ है, उसमें बताया गया है, कि भीड़ ने एक लड़के की बेरहमी से पिटाई की और उसे आतंकवादी बताया. प्रताप के मुताबिक, शो के दौरान भाजपा कार्यकर्ता मोदी सरकार के खिलाफ बोलने के लिए किसी भी वक्ता को नहीं जाने दे रहे थे. “शो मुजफ्फरनगर में सुबह 11 बजे था. विभिन्न दलों के नेता उपस्थित थे. हम स्थानीय मुद्दों पर चर्चा कर रहे थे. जब तक भाजपा के सदस्य बोल रहे थे, तब तक सब ठीक चल रहा था.

लेकिन जिस पल किसी और राजनीतिक दल ने विशेष रूप से बोलना शुरू किया, भाजपा के सदस्य, मोदी, मोदी ’ चिल्लाने लगे लगे. मोदी मोदी का यह जाप बाद में RLD और BJP सदस्यों के बीच हाथापाई में बदल गई. “जो भी सरकार के खिलाफ बोल रहे थे, उन्होंने (भाजपा कार्यकर्ताओं) उन्हें बोलने नहीं दिया. भीम आर्मी के कुछ सदस्य भी थे, उन्होंने उन्हें भी बोलने नहीं दिया.