न्यायपालिका

बिलकीस बानो और निर्भया केस, बिलक़ीस और उसके परिवार गुनाहगारो को मौत की सज़ा क्यो नही

बिलकीस बानो और निर्भया केस, बिलक़ीस और उसके परिवार गुनाहगारो को मौत की सज़ा क्यो नही

पिछ्ले दिनो दो फैसले आये, दोनो ही फैसले बलात्कार और हत्या जैसे संगीन अपराध से जुडे थे. दोनो ही केस में महिला अस्मिता का सवाल था. एक केस में निर्भया थी, जिसके साथ न सिर्फ बलात्कार किया गया था बल्कि उसके जन्नांग में लोहे की रोड को घुसाकर उसकी हत्या कर दी गई थी. निर्भया के साथ होने वाले इस अत्याचार से पूरे देश में सनसनी फैल गई थी, आखिर मानवता को अंदर तक हिला देने वाली इस घटना के बारे में जिसने भी सुना वो सहम गया था. निर्भया के क़ातिलो को रेप और हत्या के लिये मौत की सज़ा देने की मांग पूरे देश की थी. जिसे न्यायलय ने सुना भी. पर एक बात और अब देश की मांग उस जुवेनाईल को भी मौत की सज़ा देने की है, जिसे अज्ञात स्थान पर सरकार ने भेज दिया है. सरकार ने न सिर्फ उसे अज्ञात स्थान पर भेजा बल्कि उसे एक नई पहचान दे दी गई. फिलहाल अदालत ने निर्भया कांड के सभी अरोपियो को मौत की सज़ा दी है.

वही दूसरी तरफ 2002 में गुजरात नरसन्हार और दंगो के समय बलात्कार का शिकार हुई बिलकीस बानो को एक लंबे अरसे के बाद इंसाफ तो मिला पर अधूरा इंसाफ मिला। सोचिये उस औरत ने कितनी ज़लालत झेली होगी, मानसिक प्रताड़ना का शिकार हुई , डर और खौफ के साए में ज़िन्दगी गुज़ारी। दुश्मनों से बचने और इंसाफ पाने के लिए बार , बार घर और शहर बदला। उसने अपनी आँखों के सामने अपने परिवार के 17 लोगो की निर्दयता पूर्वक की गयी हत्या को देखा। उसी बहन , माँ और खुद गर्भवती होते हुए उसके साथ जालिमो ने सामूहिक बलात्कार किया। उसकी गोद से उसकी 3 साल की अबोध मासूम बेटी को छीन कर पत्थरो पर पटक कर निर्दयता पूर्वक हत्या कर दी. और जब लंबे समय तक संघर्ष करने के बाद अपराधियों को सजा मिली तो फाँसी के बजाय आजीवन कारावास? जिसमे से कुछ साल वे गुज़ार चुके हैं और कुछ साल बाद वे रिहा कर दिए जाएंगे और समय, समय पर पेरोल पर बाहर आते रहेंगे। देश बलात्कार की हर घटना पर मौत की सज़ा की मांग कर रहा है. इस तरह की नृशंस हत्या और बलात्कार पर फांसी की सजा दी होती तो दंगाईयों को सबक मिलता और भविष्य में वे दंगा, फसाद में हिस्सा लेने और इस तरह की वारदात में शामिल होने के बारे में सोच भी नही सकते।
देश में एक के बाद एक बढती बलात्कार की घटनाओ के विरुद्ध देश में आक्रोश है. सभी लोग बलात्कार की हर घटना पर कडी सज़ा चाहते हैं. बिलकीस बानो केस में बलात्कार और 14 लोगो की हत्या के दोषियो के लिये भी मौत की सज़ा की मांग देश की जनता कर रही है. ताकि बलात्कारियो के हौसले बुलंद न हो.

Avatar
About Author

Azhar Shameem

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *