Citizenship Amendment Act और NRC के विरोध में राजद द्वारा बुलाई गई बिहार बंद का आम जनजीवन पर व्यापक असर पड़ा है। मुख्य मार्गों के साथ-साथ गलियों और मोहल्लों में भी ज़िन्दगी थमी सी दिखी।
इस बंद को कामयाब बनाने के लिए आरजेडी के क़द्दावर नेता सुबह 10 बजे से ही सड़क पर उतर गए थे, राजधानी पटना में एजाज़ुल्लाह खान, मोहम्मद महताब आलम और शिव मेहता ने मुख्य भूमिका निभाते हुए बंद को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।
बंदी की शुरुआत पटना सिटी के चौक शिकारपुर से हुई, सिटी चौक होते हुए मारूफगंज मंडी को बंद कराया गया। फिर पश्चिम दरवाज़ा और गुलजारबाग मंडी होते हुए शहीद भगत सिंह चौक पर समापन हुआ।

आप को बता दें के इस बिल के विरोध में देशव्यापी आंदोलन हो रहे हैं। ख़ास तौर से उत्तर पूर्व राज्यों के लोगों का प्रदर्शन बहुत तेज़ हो रहा है। लोगों का कहना है कि यह बिल संविधान विरोधी है।
देश की मौजूदा सरकार ने कुछ दिन पहले ही एक कानून पास किया है, जिसे CAB citizen ship amendment bill का नाम दिया गया है। जो अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के साथ ही CAA (Citizenship Amendment Act) हो गया है। जिस के नतीजे में देश भर में विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। और इसी क्रम में आज बिहार की प्रमुख राजनीतिक पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने बंद का आयोजन किया था।

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *