बैंकिंग घोटाले के आरोपी और भगोड़े मेहुल चोकसी को नागरिकता देने पर एंटीगुआ सरकार ने सफ़ाई दी है कि भारत सरकार ने भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को क्लीन चिट दे दी थी उसके बाद ही उसे नागरिकता दी गई है।
एंटीगुआ का कहना है कि भारत सरकार की ओर से चोकसी के ख़िलाफ़ कोई सूचना नहीं थी. यहां तक की सेबी ने भी चोकसी के नाम पर मंज़ूरी दी थी. चोकसी के बैकग्राउंड की सख़्ती से जांच की गई, लेकिन उसके ख़िलाफ़ कुछ नहीं मिला था.
गौरतलब है कि एंटीगुआ प्राधिकरण ने पुष्टि की है कि भारत में वांछित मेहुल चोकसी उनके देश में है। मेहुल चोकसी को कथित तौर पर भारत में 2 अरब डालर के घोटाले का मास्टरमाइंड माना गया है. वह नीरव मोदी का मामा है.
एंटीगुआ की ओर से कहा गया है कि अगर भारत सरकार की ओर से मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के लिये कहा जाता है तो यहां की सरकार उसके अनुरोध का सम्मान करेगी।

About Author

Syed Asif Ali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *