• जिन्दगी और मौत के बीच जिला अस्पताल में संघर्ष कर रही पीड़िता
  • ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़ पुलिस के हवाले किया
  • कांग्रेस व सपा नेताओं ने अस्पताल पहुंच लिया हालचाल
फतेहपुर। हाथरस एवं उन्नाव जनपद की आग अभी ठण्डी भी नहीं हुयी थी कि फ़तेहपुर जनपद में छह वर्षीय मासूम के साथ हैवानियत कर दी गयी। दरिंदगी कर रहे दरिन्दे को ग्रामीणों ने दौड़ाकर पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। दुष्कर्म की घटना के बाद मासूम की हालत चिन्ताजनक बनी हुयी है। घटना की जैसे ही यह खबर जिले में फैली तो लोगों के बीच नाराजगी फैल गयी। चारो ओर से दोषियों को मौत की सज़ा देने की मांग हो रही है। उधर राजनीतिक दलों के लोगों ने जिला चिकित्सालय पहुंचकर मासूम का हालचाल लेते हुए हैवानियत करने वाले को सख्त से सख्त सजा दिये जाने की आवाज उठायी। लोगों ने सरकार से घटना को गंभीरता से लेने और आने वाले दिनों में लोग ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो सके इसके लिये कानून बनाने की मांग किया है।ललौली थाना क्षेत्र के करैहा ग्राम पंचायत के मजरे कल्लू भगत का डेरा निवासी अनिल निषाद 20 वर्ष पुत्र कंचन निषाद भुलिया डेरा गांव से साइकिल से वापस लौट रहा। गांव किनारे एक छह वर्ष की मासूम को खेलते देख दरिन्दा अनिल उसे बहला-फुसला कर गांव किनारे जंगल में घास फूस (कुसा) में ले लिया जहां उसने जबरन दुष्कर्म किया। घटना के दौरान मासूम के चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर आसपास खेतों में मौजूद ग्रामीण मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों को अपनी ओर आता देख दुष्कर्मी भागने लगा तो ग्रामीणों ने उसे दौड़ा कर पकड़ लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया।

उधर मासूम की हालत चिन्ताजनक होने पर परिजनों ने उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां उसका उपचार किया जा रहा है। बुधवार को उसका मेडिकोलीगल कराया है। थानाध्यक्ष ललौली संदीप तिवारी ने बताया कि मासूम के साथ दुष्कर्म करने वाले अनिल निषाद पुत्र कंचन निषाद को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके खिलाफ दुष्कर्म एवं पास्को एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा जा रहा है।

उधर इस दरिन्दगी की खबर जैसे ही लोगों को हुयी तो उनके बीच नाराजगी साफ देखी गयी। राजनीतिक दलों के लोगों में कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष शिवाकांत तिवारी, कांग्रेस अल्पसंख्यक सभा के प्रदेश सचिव मिस्बाउल हक, शहर अध्यक्ष मोहसिन खान समेत समाजवादी प्रबुद्ध सभा के जिलाध्यक्ष ओमचन्द्र मिश्रा, जिला उपाध्यक्ष रीता प्रजापति, राजन तिवारी, युवजन सभा के जिला महासचिव हीरालाल साहू, सत्यम अवस्थी, तनवीर हैदर, रवीन्द्र यादव, अतुल यादव, वीरन यादव समेत तमाम नेता जिला चिकित्सालय पहुंचे और मासूम का हालचाल लेते हुए कहा कि प्रदेश में कानून नाम की कोई चीज नहीं रह गयी है। हाथरस जनपद में युवती के साथ दरिन्दगी की सारें हदें पार कर दी गयी। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी और शव को परिजनों को सौंपे बिना ही पुलिस ने उसका अंतिम संस्कार करके सारे सबूतों को नष्ट कर दिया। प्रदेश की पुलिस माफियाओं एवं गुण्डों के साथ है। पीड़ितों को न्याय मिलना असंभव हो गया है।

नेताओं का कहना रहा कि उन्नाव जनपद में भी एक युवती के साथ बलात्कार किया गया। वह भी जिन्दगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है। प्रदेश की योगी सरकार विफल साबित हो गयी है। ऐसी निकम्मी सरकार को नैतिकता के आधार पर स्वयं इस्तीफा दे देना चाहिए। नेताओं ने जिले में हुई दरिन्दगी पर भी नाराजगी जताते हुए ऐसे दुष्कर्मियों को कड़ी से कड़ी सजा दिये जाने पर जोर दिया।

 

About Author

Irfan Kazmi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *