आम आदमी पार्टी ने अपनी ही पार्टी के नेता कुमार विश्वास पर षड्यंत्र करने का आरोप लगाया है। आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने दावा किया है कि अप्रैल 2017 में हुए एमसीडी चुनाव के बाद दिल्ली सरकार को गिराने का प्रयास किया गया था और इस पूरे षड्यंत्र का केंद्र कुमार विश्वास थे.उनके घर में इसके लिए बैठकें तक हुईं यहीं वजह है कि उन्हें राज्यसभा नहीं भेजा गया.
गोपाल राय ने पार्टी कार्यकर्ताओं को फेसबुक लाइव के दौरान कुमार विश्वास पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि जो आम आदमी पार्टी की सरकार गिराने के लिए विधायकों को तोड़ने की साज़िश में शामिल हो, जो सार्वजनिक तौर पर हर मंच का उपयोग पार्टी के खिलाफ बोलने में करता हो उसे राज्यसभा में भेजा सकता है? वो पार्टी की आवाज बनेगा या पार्टी ख़त्म करने के लिए काम करेगा? क्या ऐसे व्यक्ति को राज्य सभा भेजा जाना चाहिए? मुझे लगता है कि नहीं भेजा जाना चाहिए इसलिए पार्टी ने ये निर्णय लिया.
उन्‍होंने कहा कि हमने बहुत कोशिश की विश्वास अपना आचरण सुधार लें लेकिन आज मजबूर होकर सारी बात कहनी पड़ी. उन्‍होंने कहा कि विश्वास की नाराजगी का सवाल नहीं, अरविंद समेत सभी लोग पार्टी में उनसे नाराज़ हैं. उन्‍होंने कहा कि तख्तापलट के सुबूत सही समय पर सामने लाएंगे.
गोपाल राय के इस बयान पर पलटवार करते हुए आप नेता कुमार विश्वास ने कहा कि विधायक और मंत्री सहित नौ पदों पर बैठे गोपाल राय कार्यकर्ताओं को मीर जाफर कहते हैं, आज सात महीने बाद उनकी कुंभकरणी नींद खुल गई है.उन्‍होंने कहा कि दरअसल, इस माहिष्‍मती की शिवगामी देवी कोई और है, हर बार नए कटप्‍पा यहां पैदा किए जाते हैं,मेरा उनसे अनुरोध है कि नए-नए कांग्रेस और भाजपा से आए हुए जो गुप्‍ता बंधु हैं, उनके ‘योग’ ‘दान’ का कुछ आनंद लें, मेरे शव के साथ छेड़छाड़ न करें.
कुमार विश्वास ने गोपाल राय पर तंज कसते हुए कहा कि पिछली बार बाबरपुर में रैलियां करके मैं उन्हें कार्यकर्ताओं के साथ जितवाने गया था.इस बार वह सुशील गुप्ता जी की रैली कराएं और वहां से सांसद और प्रधानमंत्री बनें.उन्होंने केजरीवाल का नाम लिए बिना तंज कसा कि किम जोंग उन्हें भी (गोपाल राय को) विश्व की तरह बहुत तंग कर रखा है.वह संयुक्त राष्ट्र के अध्यक्ष भी बन जाएं, लगे हाथ विश्व शांति भी हो जाएगी अभी तो आनंद लें। विश्वास ने कहा कि काफी चीजें अंदर आई हैं, उनका आनंद उठाए.
बता दें कि आम आदमी पार्टी ने बुधवार को अपने राज्यसभा उम्मीदवारों के तौर पर संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता को नामित किया था.मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया.संजय सिंह पार्टी गठन के समय से ही उससे जुड़े हुए हैं, जबकि सुशील गुप्ता दिल्ली के एक कारोबारी हैं.
राज्यसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के तीन उम्मीदवारों के नाम का ऐलान होने के बाद कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला था.विश्वास ने कहा था कि उन्हें सच बोलने की सजा मिली है। उन्होंने एक कवि, क्रांतिकारी, आंदोलनकारी के तौर पर इसे अपनी जीत बताया है.उन्होंने कहा कि वो अब भी पार्टी के साथ जुड़े हुए हैं लेकिन इस फैसले ने उन्हें काफी ठेस पहुंचाई है.

About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *