राजनीति

विज्ञापन यूपी का तो फोटो कोलकाता का क्यों?

विज्ञापन यूपी का तो फोटो कोलकाता का क्यों?

कल से एक तस्वीर वॉयरल हो रही है सोशल मीडिया पर जहां यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बहुत बड़ा फोटो लगा कर यूपी में विकास को दर्शाया गया है। इस विज्ञापन में शानदार और बहुत बड़ा फ्लाईओवर और साथ मे कुछ इंजीनियर को काम मे बिज़ी दिखाया गया है। सबसे बड़ी बात ये है कि ये एडवरटाइज़ “इंडियन एक्सप्रेस” ने अपने फ्रंट पेज पर छापा है।

अब ये सब कुछ वैसा ही था जैसा अक्सर सरकारें करती हैं। लेकिन फिर इस तस्वीर में दिख रहे फ्लाईओवर पर कुछ अलग तरह के दावे पेश होने लगे। इन दावों में कहा ये जा रहा है कि ये फ्लाईओवर उत्तर प्रदेश का नहीं बल्कि कोलकाता का है। बस फिर क्या था ये फोटो वायरल होने लगे।

आप नेता ने क्यों तारीफ की है?

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा नेता और यूपी के प्रभारी संजय सिंह ने यहां अलग तरह से तंज करते हुए इस मुद्दे पर योगी सरकार को घेरा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ऐसा विकास न सुना होगा न देखा होगा। कलकत्ता का फ़्लाईओवर खींचकर लखनऊ ले आये हमारे CM आदित्यनाथ जी भले ही विज्ञापन में ले आये लेकिन लाये तो।”

उनके इस ट्वीट की भी खूब तारीफ की जा रही है। क़रीबन 10 हज़ार लोगों द्वारा इस ट्वीट को लाइक या शेयर किया जा चुका है। इसके अलावा अलग अलग सोशल मीडिया हैंडल पर भी इस एडवर्टाइज का मज़ाक बनाया जा रहा है।

Indian Express ने क्या जवाब दिया है?

जैसे ही ये न्यूज़ वायरल होने लगी तो इंडियन एक्स्प्रेस को भी इन सवालों का जवाब देने आगे आना पड़ा और उन्होंने इस गलती के लिए माफी मांगते हुए आधिकारिक तौर पर इसे अपने “मार्केटिंग डिपार्टमेंट” की गलती माना है। क्योंकि ये मामला बहुत बड़ा था इसलिए इससे पीछे हट पाना मुमकिन नहीं था।

एक्सप्रेस के ट्विटर अकाउंट से लिखा गया है कि “जो गलती हमसे हुई है हम उसके लिए माफी चाहते हैं” जिसके बाद जाकर मामला कुछ शांत होता हुआ सा नज़र आने लगा। वरना इस विज्ञापन पर विवाद बढ़ता हुआ नजर आ रहा था।

About Author

Asad Shaikh