December 4, 2021
विशेष दुनिया

क्या हुआ जब एक महिला ने निगल लिया हेडफोन?

क्या हुआ जब एक महिला ने निगल लिया हेडफोन?

अक्सर यह बहस का मुद्दा बना रहता है कि ‘आधुनिकता अभिशाप है या वरदान’। मगर यह पूरी तरह से साफ है कि आधुनिकता और तकनीक लोगों के स्वास्थ्य के लिए हर तरीके से हानिकारक होती है। टेक्नोलॉजी (Technology) ने लोगों की मानसिकता पर काफी बुरा असर डाला है। इसका एक जीता – जागता उदाहरण हाल ही में अमेरिका (America) देश में देखने को मिला।

अमेरिका (America) के मैसाचुसेट्स (Massachusetts) की एक महिला ने दवा की जगह अपने एयरपॉड (Airpod) हेडफोन ही निगल लिए। जैसे ही उसने पानी के साथ अपना हेडफोन (Headphone) निगला और उसे इस बात का एहसास हुआ तो वह जोर-जोर से रो कर अपनी हरकत पर पछतावा करने लगी। यह बात तब सामने आई जब उसने सोशल मीडिया (Social Media) पर खुद ही अपनी इस हरकत का खुलासा किया। इसके बाद से उसे काफी ट्रोल (Troll) भी किया गया।

महिला से हुई ‘गलती से मिस्टेक’

‘डेली स्टार – यूके’ (Daily Star – UK) में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, मैसाचुसेट्स (Massachusetts) की कार्ली (Carli) ने गलती से अपने एयरपॉड्स (Airpods) निगल लिए थे। यह बात 5 नवंबर की है। असल में कार्ली के एक हाथ में पेन किलर (Pain Killer) दवा थी और दूसरे हाथ में उनका वायरलेस हेडफोन (Wireless Headphone) था। जब उसने दवा निगलने के लिए पानी लिया तो उसने दवा की जगह अपना एक एयरपॉड हेडफोन ही निगल लिया।

सोशल मीडिया पर बताई अपनी गलती

कार्ली (Carli) ने टिक टॉक (Tik Tok) पर एक वीडियो शेयर किया। उस वीडियो में उन्होंने खुद बताया कि, “मैं बिस्तर पर आराम कर रही थी। मेरे एक हाथ में वायरलेस हेडफोन था और दूसरे में पेन किलर टैबलेट। मैंने पानी की बोतल उठाई और एक हेडफोन को दवा समझ कर निगल गई। बाद में मुझे एहसास हुआ कि जिसे मैंने निगला है वह पेन किलर नहीं है।”

उन्होंने आगे बताया कि, “जिस वक्त मैंने यह किया, उस समय मैं अपनी एक दोस्त के घर रुकी थी। जब मैंने हेडफोन निगला तब मुझे इस बात का एहसास नहीं था। वापसी के समय जब मुझे अपना हेडफोन नहीं मिला तो मैंने उसकी लोकेशन सर्च (Location Search) की जो मेरी लोकेशन पर ही शो हो रही थी। बाद में मैंने ‘फाइंड माय एयरपॉड म्यूजिक’ (Find My Airpod Music) चलाया जिसकी आवाज मेरे पेट के अंदर से आ रही थी। तब मुझे एहसास हुआ कि मैंने गलती से अपना हेडफोन ही निगल लिया है।”

किसी इंटरनल ऑर्गन को नहीं पहुंचा नुकसान

कार्ली बहुत घबड़ा गई और वह तुरंत एक डॉक्टर के पास पहुंची। डॉक्टर ने उनके पेट का एक्सरे (X – Ray) किया, जिससे यह साफ हो गया कि हेडफोन के कारण कार्ली के किसी भी इंटरनल ऑर्गन (Internal Organ) को चोट नहीं पहुंचा था। इसपर कार्ली को राहत आई। बाद में वह एयरपॉड उनके नेचुरल वेस्ट (Natural Waste) से बाहर निकल गया।

About Author

Ankit Swetav