मध्यप्रदेश

ये अंधविश्वास की अति है, बारिश के लिये लड़कियों को घुमाया नग्न

ये अंधविश्वास की अति है, बारिश के लिये लड़कियों को घुमाया नग्न

आप अकसर टीवी पर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के बारे में अकसर सुनते ही होंगे, पर क्या आपने कभी सुना है कि महिलाएं ही अपनी छोटी-छोटी बेटियों को गांव भर में निर्वस्त्र घुमाएं। पर ऐसा हुआ है। पूरा मामला मध्य प्रदेश के दमोह जिले का बताया जा रहा है। 

अंधविश्वास से जुड़ा है मामला 

यह पूरा मामला अंधविश्वास से जुड़ा हुआ है। अंधविश्वास के ही चलते इन बच्चियों को गांव भर में नग्न अवस्था में घुमाया गया है।

दरअसल, दमोह जिले के जबेरा ब्लॉक के अमदर पंचायत में बनिया नाम का एक गांव है। यहाँ बारिश न होने के चलते लोग काफी परेशान थे। जिसके बाद इन परेशान गांव वालों ने इंद्र देवता को मनाने के लिए अपनी बच्चियों को नग्न अवस्था में, कंधे पर मूसल रखकर पूरे गांव का चक्कर लगवा दिया। आपको यह जान कर हैरानी होगी। लेकिन इसमें खुद इन बच्चियों की माएं भी शामिल थी।

मूसल में मेढ़क बांध कर बच्चियों को घुमाया जाता है नग्न 

यह सोच कर भी हैरानी होती है कि इस गांव के लोग ऐसी पुरानी मान्यताओं को आज भी मानते हैं और टोटके करके बारिश लाने की कोशिश करते हैं।

टोटके की इस पूरी प्रक्रिया में छोटी-छोटी बच्चियों को पूरी तरह नग्न कर उनके कंधों पर मूसल रखा दिया जाता है। इसके बाद मूसल में मेंढक को बांधा जाता है और फिर बच्चियां पूरे गांव में घूमती हैं। यही नहीं इन बच्चियों की माएं और पड़ोस की महिलाएं पीछे-पीछे महिलाएं भजन कीर्तन करती जाती हैं।  लोगों का मानना है कि ऐसा करने से अच्छी बारिश उनके इलाके में होगी और उनकी फसलों को फायदा पहुंचेगा। 

हालांकि इस खबर और वीडियो के वायरल होते ही राष्ट्रीय बाल अधिकार आयोग ने खुद इस मामले का संज्ञान लिया है, साथ ही मामले पर नाराजगी जताते हुए स्थानीय कलेक्टर को इस मामले में संलिप्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये हैं।  

About Author

Heena Sen