December 4, 2021
राजस्थान

Rajsthan : कोंग्रेस की नई कैबिनेट में 15 नए चेहरे, 11 कैबिनेट तो 4 राज्यमंत्री बने

Rajsthan : कोंग्रेस की नई कैबिनेट में 15 नए चेहरे, 11 कैबिनेट तो 4 राज्यमंत्री बने

राजस्थान (rajasthan) में सियासी संकट से उभर कर राजस्थान कोंग्रेस (congress) की अब नई कैबिनेट (cabinet) बन गयी है। शनिवार को सभी मंत्रियों के इस्तीफे के बाद रविवार को राजभवन में नए मंत्री मंडल का शपथ ग्रहण समारोह हुआ। सभी मंत्रियों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (chief minister ashok gehlot) और राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र (kalraj mishr) के समक्ष शपथ ली।


राजस्थान कोंग्रेस कैबिनेट में 15 मंत्रियों ने शपथ ली जिनमे 11 ने कैबिनट मंत्री के तौर पर और 4 ने राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली।


पायलट गुट के नेता हुए कैबिनेट में शामिल :

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नई कैबिनेट में पायलट (paylot) गुट के मंत्री मुरलीलाल मीणा को स्थान दिया गया है। मुरलीलाल मीणा (murli lal mina), सचिन पायलट (sachin paylot) के समर्थक हैं और जब राजस्थान में कोंग्रेस दो गुटों में बंटी थी तब उन्होंने पायलट को अपना नेता बताया था। हालांकि, NDTV से बातचीत में सचिन पायलट ने कहा, की यहां कोई किसी गुट का नेता नहीं है…यहाँ सिर्फ कोंग्रेस के नेता हैं।


भजनलाल जाटव और हेमाराम चौधरी समेत कई नेता हुए प्रमोट :

नई कैबिनेट में भजनलाल जाटव (bhajan lal jatav), हेमाराम चौधरी (hemaram choudhary), रमेश चंद मीणा (ramesh chand mina) और टीकाराम जुली (tikaram juli) ऐसे नेता है जिन्हें दोबारा मंत्री पद मिले हैं। इन सभी नेताओं को फिर से प्रमोट किया गया है। भजनलाल जाटव पहले कृषि राज्य मंत्री के तौर पर काम कर चुके है।

Photo :NBT

हेमाराम चौधरी, राजस्थान कोंग्रेस में वरिष्ठतम सदस्य रह चुके हैं। वहीं रमेश चंद मीणा 2008 में बसपा से जीतकर कोंग्रेस की सरकार में खाद्य और आपूर्ति विभाग में मंत्री बने थे। टीकाराम जुली राजस्थान में राज्यमंत्री के तौर पर पद संभाले हुए थे, लेकिन अब उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। जुली अलवर के ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से आतें हैं।

महिलाओं को भी दी गयी कैबिनेट में जगह :

15 मंत्रियो की इस फेहरिश्त में 3 महिला मंत्रियो ने भी बाज़ी मारी हैं। इनमे महिला राज्यमंत्री ममता भूपेश (mamta bhupesh) शामिल हैं। उन्हें राज्यमंत्री से कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। ममता ने पहले महिला और बाल विकास मंत्रालय शम्भाला था। अलवर के बानसूर से आने वाली शकुंतला रावत (shakuntala ravat) को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। वो दो बार बानसूर सीट जीत चुकी हैं। तीसरी महिला मंत्री मुस्लिम समुदाय से आने वाली जाहिदा (jahida) हैं। NBT के मुताबिक जाहिदा कैबिनेट में एक इम्पोर्टेन्ट फेक्टर के तौर पर देखीं जा रही है।

अन्य नेता भी रखते हैं महत्वपूर्ण स्थान :

इसके अलावा, पायलट समर्थक ओला शेखावटी (OLa shekhavati) को मंत्रिमंडल में जगह मिली है, शेखावटी एक बड़े जाट नेता के तौर पर जाने जाते हैं। गहलोत के करीबी माने जाने वाले राजेन्द्र गुढ़ा (rajendra gudha) को भी मंत्री बनाया गया है, वो BSP छोड़ कर कोंग्रेस में आए थे।

Photo : ANI

मास्टर भवर लाल मेघवाल की मृत्यु के बाद अब कोंग्रेस में दलित नेता के तौर पर मेघवाल, महेंद्र सिंह मालवीया (mahendra singh malviya) दिखेंगे। अटकलें है कि उन्हें सामाजिक न्याय विभाग दिया जा सकता है।

इसके अलावा, रामलाल जाट (ramlal jaat), विश्वेन्द्र सिंह (vishvendra singh) और मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी (dr. Mahesh joshi) को भी कैबिनेट में जगह मिली है।

About Author

Sushma Tomar